लापता बच्चो को ढूंढ़ परिवार की खुशियाँ लौटा रही है फरीदाबाद पुलिस

0
18

फरीदाबाद: लापता बच्चो को ढूंढने में आजकल फरीदाबाद पुलिस अच्छी खासी सतर्क है, बच्चो के गमशुदगी के मामले पुलिस की प्राथमिकता पर है| घटना की सूचना मिलते ही प्रयास शरू कर दिए जाते है, इसमें तकनीकी मदद के साथ ही मुखबिरों की भी मदद ली जाती है।

तकनीकी मदद से हाल के दिनों में कई गुमशुदा बच्चो को पुलिस ने उनके परिजनों से मिलाया है।

दरअसल ज्यादतर बच्चे अपनी अनुचित मांग नहीं माने जाने, परीक्षा में कम अंक आने, परिजनों की डांट अथवा अन्य कारणों से खुद घर छोड़कर चले जाते है| वही, कुछ बच्चे लापता हो जाते है और अपने परिवार से बिछड़ जाते है।

कुछ मामलो में ही बच्चो के अगवा करने के मामले में मानव तस्करों की भूमिका सामने आती है, तस्कर बच्चो से भीख मंगवाने के अलावा नाबालिग बच्चियों से गलत काम तक करवाते है| लेकिन, फरीदाबाद में इस तरह की घटना ना के बराबर है, बावजूद इसके बच्चो के मामले में पुलिस की जांच में कोई कमी ना छोड़ी जाए इसके लिए फरीदाबाद पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने अधिकारीयों को सख्त निर्देश दे रखा है।

पुलिस की सतर्कता के कारण गत दिनों कई बच्चो को सकुशल बरामद किया गया है।

गुमशुदगी का ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमे नाबालिग 8 साल की बच्ची को फरीदाबाद पुलिस ने उसके परिजनों से मिलाया है, आपको बताते चले कि फरीदाबाद पुलिस को इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से रेलवे चाइल्डलाइन आगरा द्वारा एक सूचना प्राप्त हुई कि एक नाबालिग 8 साल की बच्ची जो अपने आप को कृष्णा कॉलोनी फरीदाबाद की रहने वाली बता रही है और आगरा रेलवे स्टेशन पर घुमती मिली है।

जिस सूचना पर तुरंत प्रभाव से चौकी इंचार्ज सेक्टर 11 प्रदीप ने 2 टीम गठित करके व बीट अधिकारियो को साथ लेकर कृष्णा कॉलोनी की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसियेशन की मदद से बच्ची के परिवार के बारे में पता लगाया तो लड़की की माँ अपने घर पर मिली, लड़की की माँ ने पूछताछ में बताया कि उसकी 8 साल की बेटी रात को घर से बिना बताये चली गई थी और वापस नहीं लौटी है|।

इस सूचना को गंभीरता को समझते हुए मुख्य सिपाही सुमित और सुरेंद्र व महिला सिपाही मंजू को चौकी इंचार्ज द्वारा प्राइवेट गाडी का इंतजाम करके बच्ची की माँ सहित आगरा भेजा गया और नाबालिग 8 साल की बच्ची को उसकी माँ से मिलाया गया और बच्ची का कोविड परीक्षण कराया गया जिसके उपरांत आगरा चाइल्ड कमेटी ने बच्ची को पुलिस की मौजूदगी में माँ के हवाले किया गया।

जिसके तुरंत बाद पुलिस चौकी सेक्टर 11 के स्टाफ द्वारा बच्ची व माँ को अच्छे से समझाकर व खाना खिलाकर सही सलामत घर पर पहुँचाया गया, जिसके बाद लापता नाबालिग 8 वर्षीय बच्ची को वापस पाकर परिजनों का ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा, उन्होंने पुलिस चौकी प्रभारी व उनकी टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उनका धन्यवाद किया।
रिपोर्टर
अभय गिरी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें