प्रधान पद के प्रत्याशी को विपक्षी की मिलीभगत से ,पुलिस द्वारा चुनाव न लड़ने देने का कुप्रयास

0
10

ग्रामस्तर तक लोकतंत्र कैसे कायम होगा सरकार

प्रधान प्रत्याशी ने पुलिस के विरुद्व शिकायती पत्र भेजकर लगाई न्याय की गुहार
इस्माइलपुर प्रयागराज सोरांव तहसील क्षेत्र के नवाबगंज थाना अंतर्गत नसीरपुर दरगाही गांव निवासी पंचायत चुनाव के प्रधान प्रत्याशी के पति द्वारा कुछ अराजक तत्वों सहित चौकी इंचार्ज आना पुर के विरुद्ध न केवल चुनाव मैदान से पीछे हटने की बात कहते हुए दबाव बनाये जाने का, अपितु ना मानने पर मध्य रात्रि प्रत्याशी के घर में दर्जनों लोगों सहित घुसकर मारा पीटा बल्कि घर की महिलाओं से अभद्रता भी करने का आरोप लगाते हुए भुक्तभोगी ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन सहित जिले के अन्य उच्चाधिकारियों व जिला निर्वाचन अधिकारी प्रयागराज को शिकायती पत्र जरिए रजिस्ट्री भेजकर न्याय की गुहार लगाया है ।
बताया जाता है कि उक्त गांव निवासी रामलाल पटेल की पत्नी मीरा देवी अपने गांव से ग्राम प्रधान पद के प्रत्याशी के लिए नामांकन कराया है।
आरोप है कि गांव के ही कुछ अराजक तत्वों द्वारा मीरा देवी को चुनाव में बैठने के लिए दबाव बनाया गया उनके दबाव को न मानने पर अराजक तत्वों द्वारा चौकी इंचार्ज आनापुर से भी मीरा देवी को चुनाव मैदान से हटाने का दबाव बनाया गया लेकिन मीरा देवी ने उनकी बातों को नही माना।
आरोप है कि बीते चार अप्रैल की मध्य रात्रि चौकी इंचार्ज आनापुर बगैर नम्बर प्लेट की तीन चार पहिया गाड़ियों से उसके घर पहुंच गए भुक्तभोगी के मुताबिक उक्त गाडियो मे 25से 30 लोग मौजूद थे और नशे मे धुत थे । सभी लाठी-डंडों से लैस होकर नशे की हालत में घर में जबरदस्ती घुसकर चुनाव लडने से मना करते हुए जमकर तांडव किया ,इतना ही नहीं घर की महिलाओं से अश्लील हरकत करने का भी आरोप लगाया गया है।
भुक्तभोगी ने मामले की शिकायत 112 नंबर डायल पुलिस को दिया जिस पर पहुंची पुलिस ने भी विभागीय मामला होने के नाते बैरंग वापस लौट गयी। तब प्रार्थिनी ने घटना की शिकायत थाना अध्यक्ष नवाबगंज को दिया लेकिन स्टाफ का मामला होने के कारण थानाध्यक्ष द्वारा भी संज्ञान में नहीं लिया गया ।
जिससे क्षुब्ध होकर भुक्तभोगी ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश, गृह सचिव ,राष्ट्रीय महिला आयोग समेत प्रमुख सचिव निर्वाचन आयोग को लिखित शिकायत जरिए रजिस्ट्री पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाया है।