वृद्धावस्था आश्रय स्थल में बेहतर देखभाल वृद्धजनों की सुनिश्चित हो। डीएम

0
19

चंदौली: वृद्धजनों के सम्मान और उनके उचित देखभाल के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस मनाया जा रहा है संबोधित करते हुए जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह आज अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर मुख्यालय स्थित वृद्धजन आश्रय स्थल में जाकर वृद्धजनों के बीच में स्वास्थ्य की जानकारी ली। और उनके स्वास्थ्य रहने की कामना के साथ मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि 15 दिन के अंतराल पर सभी आश्रय स्थल पर स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाना सुनिश्चित करें। उपस्थित चिकित्सक को स्वास्थ्य परीक्षण की डिटेल्स रजिस्टर में दर्ज करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी द्वारा सभी बुजुर्ग महिलाओ एवं पुरूष को माल्यार्पण कर फल वितरण किया। साथ ही अपने मौजूदगी में कई बुजुर्ग की स्वास्थ्य परीक्षण कराया।
जिलाधिकारी ने संबोधित करते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय दिवस के जरिए यह बताया जाता है कि सभी को अपने घर एवं आस-पास में रहने वाले सभी बड़े लोगों का सम्मान करना चाहिए। कहा कि हमारे देश में बड़े लोगों को घर की नींव समझा जाता है और उनके आशीर्वाद को किसी भी काम में सबसे बड़ा सहायक माना जाता है। इसलिए हमारे देश में सभी अपने से बड़ों का सम्मान और आदर करते हैं। फिलहाल अब हालात काफी बदल गए हैं। कई मामलों में वृद्धजनों को अपनी संतानों द्वारा मुश्किलें और दिक्कतें झेलते देखा गया है। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के जरिए बुजुर्गों को सम्मान दिलाए जाने के लिए जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने बुजुर्ग व्यक्तियों को विद्धावस्था से संबंधित बीमारियों से संबंधित प्राणायाम कर बीमारियों को कोसों दूर भगा सकते हैं। आपके स्वास्थ्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक यह है कि आप शारीरिक रूप से सक्रिय रहें, स्वस्थ जीवन के लिए नियमित शारीरिक क्रियाकलाप अवश्य करें। शारीरिक सक्रियता, व्यायाम, टहलना, इंडोर गतिविधियां, योग कर अपने जीवन को स्वस्थय रख सकते हैं। वृद्धावस्था के दौरान यूनिटी कमजोर होती है धूम्रपान न करें, नशे का सेवन न करें।
जिलाधिकारी ने समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि वृद्धजनों को राष्ट्रीय बुजुर्ग स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा देखभाल कार्यक्रम के अंतर्गत प्रतिदिन के दिनचर्या में दी जाने वाले स्वास्थ्यवर्धक भोजन खिलाया जाए। जिलाधिकारी ने बुजुर्ग व्यक्तियों से अपील किया कि कोरोना महामारी में एक दूसरे से उचित दूरी बनाए रखें। हेल्थ कार्ड बनाए जाने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिए। जिन बुजुर्ग व्यक्तियों को आंख से दिक्कत होती हो उनकी जांच करा कर मोतियाबिंद का ऑपरेशन या अन्य जरूरी दवाओं को दिया जाना सुनिश्चित करें। ऐसे बुजुर्ग जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है उनको वृद्धावस्था पेंशन भी दिलाया जाए। जिलाधिकारी को समाज कल्याण अधिकारी ने अवगत कराते हुए बताया कि 72 पंजीकृत किए गए हैं 46 लोगों का पेंशन दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि सरकार के द्वारा राष्ट्रीय बुजुर्ग स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रम के अंतर्गत निराश्रित बुजुर्ग व्यक्तियों का वृद्धा आश्रम में रखकर भरण-पोषण, स्वास्थ्य संबंधित अन्य गतिविधियों को सरकार के द्वारा संचालित कराया जाता है।
कार्यक्रम के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर बीपी द्विवेदी, जिला समाज कल्याण अधिकारी सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।

साजू थॉमस, चन्दौली