Maharashtra:नासिक से 839 प्रवासी मज़दूरों के लेकर लखनऊ के लिए निकली पहली ट्रेन

0
121

Mumbai: महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक (Nasik) से यूपी की राजधानी के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन रवाना हो गई है. ट्रेन में 839 प्रवासी मजदूर सवार हुए हैं. नासिक रोड रेलवे स्टेशन से ट्रेन सीधे उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) पहुंचेगी. माना जा रहा है कि स्पेशल ट्रेन कल (3 मई) सुबह तक लखनऊ पहुंचेगी. लखनऊ आने के बाद सभी लोगों की स्क्रीनिंग कराई जाएगी और घर भेजने की व्यवस्था की जाएगी.

बता दें आज से 6 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही हैं. इन ट्रेनों का कोई टिकट नहीं लग रहा है. संबधित राज्य सरकार टिकट का दाम वहन करेंगी. यात्रियों की जांच कराकर ट्रेन में लाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है. यही नही नहीं भोजन और पानी की व्यवस्था भी ट्रेन में राज्य सरकार ही करेंगी. रास्ते में एक बार भोजन और पानी की जिम्मेदारी भारतीय रेल की है. बता दें ये स्पेशल ट्रेन मार्ग में कहीं नहीं रुकेगी. गंतव्य पर पहुंचने के बाद इन यात्रियों की जिम्मेदारी संबंधित प्रदेश की सरकार की होगी.

यात्रियों की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार की

यात्रियों की जांच, भोजन पानी और घर तक जाने या क्वारेंटाइन सेंटर जाने की व्यवस्था राज्य सरकार की है. इन स्पेशल ट्रेनों में एसी डिब्बे नहीं हैं. लॉकडाउन में फंसे हुए श्रमिक, छात्र एवं तीर्थयात्री इन ट्रेनों से भेजे जा रहे हैं.

लवे की अपील- सिर्फ रजिस्टर्ड लोग ही पहुंचें

पश्चिम रेलवे की ओर से किये गये एक ट्वीट में कहा गया है कि सभी लोग स्टेशन न आएं. सिर्फ वही लोग आएं जो लोग रजिस्टर्ड हैं और जिन्हें उनके राज्य सरकार से अनुमति मिली है. पश्चिम रेलवे की ओर से किये गये ट्वीट में कहा गया है कि ‘कृपया ध्यान दें -विशेष ट्रेनें राज्य सरकारों द्वारा रजिस्टर्ड तथा नामित व्यक्तियों के लिए ही प्लान की जा रही हैं. कोई भी व्यक्ति किसी भी कारण से रेलवे स्टेशनों पर नहीं आए. किसी को भी व्यक्तिगत रूप से रेल टिकट नहीं दिए जाएंगे और ना ही कोई व्यक्तिगत अनुरोध स्वीकार किया जाएगा.’

रेलवे ने ट्वीट कर कहा है कि ’17 मई तक सभी मेल/एक्सप्रेस/सबर्बन आदि यात्री गाड़ियां निरस्त हैं. विभिन्न स्थानों पर रुके श्रमिकों, स्टूडेंट, श्रद्धालुओं आदि के लिए विशेष ट्रेनें राज्य सरकारों के अनुरोध पर, केवल उनके द्वारा रजिस्टर/नामित लोगों के लिए ही प्लान होंगी.अतः राज्य सरकारों के नोडल अधिकारी से संपर्क करें.’