सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य अधूरा पाये जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने तत्काल जांच कराकर ग्राम विकास अधिकारी को निलंबित करने के दिये निर्देश

0
56

चंदौली/ शनिवार को तहसील-चकिया सभागार में जिलाधिकारी श्री संजीव सिंह की अध्यक्षता में तहसील दिवस का आयोजन हुआ। जिलाधिकारी फरियादियों से रूबरू होते हुए उनकी समस्याओं से अवगत होकर संबंधित अधिकारियों को जाँच पड़ताल एक सप्ताह के अंदर गुणवत्तापूर्ण समयबद्ध निस्तारण के निर्देश दिए।सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान कुल 142 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ जिसमें मौके पर 06 का निस्तारण किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सभी विभागाध्यक्ष को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि आईजीआरएस पोर्टल पर जनसामान्य की शिकायतें लंबित न रहें ।प्रतिदिन पोर्टल खोलकर प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध गुणवत्तापूर्ण निस्तारण समय से सुनिश्चित करें। लंबित शिकायतें डिफाल्टर श्रेणी में गयी तो कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित होगी।
जिलाधिकारी के निर्देश पर तहसील दिवस में प्राप्त राजस्व विभाग से संबंधित प्रकरणों में राजस्व, पुलिस, अभियंता आदि अधिकारियों की चार टीमें गठित कर तत्काल निस्तारण हेतु भेजा गया। इसी प्रकार अन्य सभी विभागों की शिकायतों की भी जांच कराकर समय से निस्तारण के कड़े निर्देश दिए गए। साथ ही प्रत्येक पंजीकृत शिकायतों का रिकॉर्ड अपडेट रखा जाय।
सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान ग्राम बुढ़वल विकास खण्ड चकिया में सामुदायिक शौचालय का निर्माण अधूरा होने तथा छत से पानी रिसने की शिकायत ग्रामीण द्वारा की गई जिस को तत्काल संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी ने जिलास्तरीय अधिकारी एवं अभियंता की टीम गठित कर संबंधित ग्राम पंचायत सचिव के साथ मौके पर जांच के लिए भेजा। सामुदायिक शौचालय के निर्माण में गड़बड़ी एवं गुणवत्ता खराब पाई गई जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित ग्राम विकास अधिकारी श्री चंद्र को तत्काल निलंबित करने का निर्देश दिया। कहा कि योजनाओं में लापरवाही व गड़बड़ी करने वाले को क़त्तई नही बक्शा जाएगा। जिलाधिकारी ने शिकायतों को गुणवत्तापरक निस्तारण पर विशेष ध्यान दिये जाने के निर्देश दिए। कहा कि फरियादियों की शिकायत के निस्तारण में कोरम पूर्ति न हो, स्थलीय जाँच कर गुणवत्ता परक निस्तारण सुनिश्चित किया जाय।
पुलिस अधीक्षक श्री अमित कुमार ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि महिलाओं की शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए उसका फौरन निस्तारण व कार्यवाही सुनिश्चित किया जाय। इसमें कोई टाल मटोल या लापरवाही न किया जाय।
संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान उप जिलाधिकारी/ ज्वाइंट मजिस्ट्रेट चकिया प्रेम प्रकाश मीणा, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 वीपी द्विवेदी, प्रभागीय वनाधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

साजू थॉमस, चन्दौली