Azamgarh:थाना क्षेत्र निजामाबाद पीड़ित का नहीं दर्ज हुआ FIR, न्याय की लगा रहा है गुहार

0
101

आजमगढ़ निजामाबाद थाना क्षेत्र के फरिहा उमा के पूरा गांव निवासी अनमोल पुत्र दुखी यादव का आपसी विवाद गांव के ही भीमा यादव पुत्र रोपन से है 5 मई दिन मंगलवार को दरवाजे पर रास्ते से आते वक्त अनमोल के पुत्र गुड्डू से कुछ कहासुनी हुई जिस पर भीमा यादव और उनके पुत्र जिया लाल हीरालाल, सोनू, मोनू, ने मिलकर अनमोल और उनके पुत्र गुड्डू को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया, घायल होने के बाद रात मे 112 डायल पर पीड़ित परिवार घन्टो फोन लगाते रहे लेकिन फोन न लगने पर पिड़ीत ने थानाध्यक्ष निजामाबाद को सूचना दिये लेकिन कोई परिणाम नही मिला फिर पीड़ित चौकी फरिहा का चक्कर लगा रहा लेकिन अभी तक पीड़ित  परिवार का मुकद्दमा नही लिखा गया,गांव के संभ्रांत लोगों के हस्तक्षेप से मामला शांत हो गया लेकिन विपक्षी अभी भी जान मारने की धमकी दे रहे हैं, पीड़ित अनमोल ने न्याय की गुहार चौकी इंचार्ज फरिहा अनिरुद्ध कुमार सिंह से लगाए लेकिन विपक्षियों ने राजनैतिक दबाव बनाते हुए मामले को दबाना चाहते हैं चौकी इंचार्ज फरिहा भी जबरदस्ती सुलह समझौता करवाने पर तुले हुए हैं जबकि पीड़ित पक्ष न्याय पाने के लिए मंगलवार से दर-दर की ठोकरें खा रहा है बृहस्पतिवार को पुलिस चौकी परिसर में चौकी इंचार्ज फरिहा द्वारा दोनों पक्षों को बुलाकर आपसी सुलह समझौते करवाने के लिए पीड़ित पर ही दबाव बनाने लगे जब पीड़ित पक्ष नहीं माना तब चौकी इंचार्ज द्वारा धमकी भी दिया गया कि फर्जी मुकदमे में फंसा कर जेल भेज दूंगा न्याय का मंदिर कहे जाने वाले चौकी और थाना दलालों का अड्डा बन चुका है दलालों के माध्यम से ही पैसे का लेन देन करके आये दिन पीड़ितों पर ही दबाव बनाया जाता है और पीड़ित पक्ष दर दर की ठोकरे खाता हैं वही मारपीट करने के बाद सीना चौड़ा करके चौतरफा घूम रहे हैं जो एक निंदनीय है।