जिनके हाथों में देश की सुरक्षा का जिम्मा उन्हीं के ऊपर दर्ज किया गया फर्जी मुकदमा । वाह रे आजमगढ़ की पुलिस

0
177

मेहनगर, आजमगढ़। चकरोड संबंधी विवाद में सेना के जवान को झूठे मुकदमे में फंसाया गया। मामला मेहनगर थाना क्षेत्र के ग्राम भदसारी का है जहां के रहने वाले रविंद्र राय ने बताया कि उनके दोनों पुत्र सेना में हैं उनके विपक्षी अरुण राय ने पुलिस से सांठगांठ कर उनके पुत्रों के ऊपर झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया है। जिसको लेकर रविंद्र राय ने पुलिस अधीक्षक से लेकर मुख्यमंत्री तक शिकायत दर्ज कराया है लेकिन अभी उसका कोई भी निस्तारण नहीं हो पाया। जिसमें से राधारमण पुत्र रविंद्र राय के ऊपर सरासर झूठा मुकदमा दर्ज किया गया है आपको बताते चलें कि जिस समय यह घटना हुई है उस समय वह ऑन ड्यूटी पर थे अब यह बात समझ से परे है कि आखिर मेहनगर की पुलिस किस प्रकार की जांच कर राधारमण के ऊपर फर्जी मुकदमा दर्ज किया। अगर मारपीट का मामला बनता तो दोनों पक्षों के ऊपर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए लेकिन विपक्षी और पुलिस की सांठगांठ कर एक तरफा रविंद्र राय एवं उनके पुत्रों के ऊपर फर्जी मुकदमा कायम कर दिया गया। जहां हमारे देश के जवान बॉर्डर पर दिन-रात देश की सुरक्षा में लगे हुए हैं उन्हीं के ऊपर अगर इस तरह से फर्जी मुकदमा दर्ज किया जाएगा तो उनका मनोबल टूट जाएगा यह एक गंभीर मामला है इस पर पुलिस को निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई करनी चाहिए लेकिन अभी ऐसा होता प्रतीत नहीं हो रहा है। जबकि पीड़ित परिवार सीसीटीवी फुटेज भी दिखाने के लिए तैयार है लेकिन अभी तक इस पर कोई ठोस कार्रवाई। इस मामले में मैं नगर थाना के उपनिरीक्षक मोहम्मद आसिफ की भी लापरवाही सामने आ रही है इस मामले को लेकर राधारमण के कई ऑडियो रिकॉर्ड भी वायरल हो रहे हैं जिसमें वह अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाते नजर आ रहा है।मीडिया से बातचीत करते हुए राधारमण के माता-पिता ने क्या कुछ कहा आइए आपको सुनाते हैं।