तेज हवा संग हुई बारिश से खेतों में गिरी धान की अधपकी फसल

0
34

आजमगढ़/ किसानों की ओर से गन्ना और गेहूं के बाद धान की सर्वाधिक खेती की जाती है।इसबार भी जनपद मे किसानों ने धान की फसल ब्यापक स्तर पर लगाया है।जो अब पकने के लिए तैयार है कहीं कहीं तो तैयार धान को किसान पानी लगे खेतों मे घुसकर काट भी रहे हैं लेकिन पिछले दो दिनों से रूक रूक कर हो रही बारिश और तेज हवाओं से किसानों के खेतों में खड़ी फसल बिछ गई है।लगातार बारिश से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली वहीं किसानों के लिए यह बारिश कष्टदायक साबित हो रही है।खेतों में पहले से ही पानी भरा हुआ है, लेकिन बारिश होने की वजह से किसानों को खेतो मे लगे धान की कटाई को लेकर किसान परेशान होते नजर आ रहे हैं।खेतो मे जो धान की फसल तैयार है वह बारिश व हवा की वजह से गिर कर नष्ट हो रही है यह देख किसानों का कलेजा फट गया है।निजमाबाद तहसील क्षेत्र के फरिहा गांव के किसानो ने की खड़ी फसल बारिश एवं तेज हवा के कारण धान की खड़ी फसल खेतो मे पानी के बीच गिर गई है जिससे किसानो कि चिंता अत्यधिक बढ़ गई है मौसम विभाग के द्वारा भी अभी दो दिन और बारिश बताई जा रही है जिससे किसानों की चिंता और ज्यादा बढ़ते नजर आ रही है इससे किसानों को आर्थिक नुकसान के साथ ही मानसिक आघात का सामना करना पड़ रहा है। फरिहा प्रधान अबू बकर व श्यामजी उपाध्याय किसान ने प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए प्राकृतिक आपदा से नष्ट हुई फसल के मुवावजे की मांग की है।