महिला ग्राम प्रधान ने अधिकारियों को पत्र लिखकर लगाई गुहार, गांव में नहीं आते सफाईकर्मी

0
89

नौगढ़- विकास खंड के बाघी गांव को साफ-सुथरा रखने के लिए धनतेरस और अरविंद नाम के दो सफाई कर्मियों की तैनाती की गई है, लेकिन इनके द्वारा सफाई नहीं की जाती है। अधिकारियों के सह पर इन्होंने दूसरे को सफाई का ठेका दे रखा है, इससे गांव में चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ है। नालियों का पानी सड़क पर बह रहा है। ग्राम प्रधान नीलम ओहरी ने जिला पंचायत राज अधिकारी, खंड विकास अधिकारी, एडीओ पंचायत को शिकायती पत्र लिखा है। ग्राम प्रधान नीलम ओहरी का कहना है ग्राम पंचायत की आबादी 7000 है। इस गंभीर समस्या को लेकर लोगों का गुस्सा कभी भी सड़क पर दिख सकता है। सफाई कर्मियों ने मनमाने ढंग से प्राइवेट लोगों को सफाई का काम ठेके पर दे रखा है। पंचायती राज विभाग के अधिकारी शिकायत के बाद भी संज्ञान नहीं ले रहे हैं। आपको बता दें कि बाघी गांव के अंतर्गत तहसील, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, विकास खंड कार्यालय, थाना डाकघर स्टेट बैंक अन्य विभागों के कार्यालय स्थापित है। यहां 2 मस्जिद समेत दुर्गा मंदिर, पंचायत भवन के अलावा कम कंपोजिट प्राथमिक, कंपोजिट जूनियर स्कूल स्थापित है। गांव की साफ-सफाई के लिए दो सफाई कर्मियों की तैनाती की गई है, लेकिन उनका गांव में कभी दर्शन तक नहीं होता है।ग्राम प्रधान नीलम ओहरी का कहना है कि बस्तियों में चारों तरफ गंदगी का अंबार लगा हुआ है। नालियां कूड़ा-कचरा और पालीथिन से पटकर जाम हो गईं हैं। इस वजह से लोगों के घरों की पानी निकासी भी अवरुद्ध हो गई है। कई मार्गों पर नालियों का गंदा पानी लगा है। पानी के बीच लोगों ने ईंट डाल रखा है, नमाज पढ़ने वालों को गंदगी के बीच से मस्जिदों तक जाना पड़ रहा है, जिससे उन्हें निराशा हो रही है। समस्या को लेकर कभी भी लोगों का आक्रोश सड़क पर दिख सकता है।
के मास न्यूज