भूटान के बॉर्डर से घर आए युवक को ले गई स्वास्थ्य विभाग

0
71

**बुखार और सर्दी होने की सूचना पर पहुंची थी टीम

जौनपुर /सुरेरी । स्थानीय क्षेत्र के एक गांव में तीन दिन पूर्व भूटान के बॉर्डर वेस्ट बंगाल से आए युवक को बुखार व खांसी आने की सूचना पर गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक को जांच के लिये जिला अस्पताल के लिए रवाना हो गई।

बताते हैं कि स्थानीय थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी 30 वर्षीय युवक वेस्ट बंगाल में हासीमारा भूटान के बॉर्डर के समीप ट्रक चलाने का कार्य कर रहे थे, देश में फैले कोरोना जैसी महामारी के चलते उक्त युवक 31 मार्च की देर रात्रि को जैसे ही अपने घर पहुंचा तो घर पहुंचने पर परिजनों ने उसे घर में प्रवेश नहीं करने दिया। जिसके कारण मजबूरन उसको गांव में स्थित एक पूर्व माध्यमिक विद्यालय में रात बितानी पड़ी। सुबह जब इस बात की जानकारी उक्त गांव के प्रधान को हुई तो उन्होंने प्रभारी चिकित्साधिकारी रामपुर प्रभात यादव को फोन कर अवगत कराया। सूचना पर प्रभारी चिकित्साधिकारी मौके पर पहुंचे प्रभारी चिकित्साधिकारी और ग्राम प्रधान के आग्रह पर परिजनों ने घर पर एकांत में बने एक कमरे को उक्त युवक को रहने के लिए सौंप दिया। परिजन समेत ग्रामीण भी उससे दूरी बनाये रहे हालांकि उस समय उक्त युवक को किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं थी। वहीं दो अप्रैल को युवक को बुखार व सर्दी आना शुरू हुआ जिसकी सूचना ग्राम प्रधान द्वारा कंट्रोल रूम व स्वास्थ्य विभाग को दी गई। सूचना पर शुक्रवार की दोपहर खंड विकास अधिकारी रामपुर राजीव सिंह, थानाध्यक्ष सुरेरी श्याम दास वर्मा के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम उक्त व्यक्ति के घर पहुंची व बुखार से पीड़ित व्यक्ति को एम्बलेंस से जांच के लिए जिला अस्पताल लेकर चली गई। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि प्रमेश सिंह की मानें तो उक्त व्यक्ति को अस्पताल ले जाते वक्त खांसी बहुत ज्यादा नहीं थी, आशंकावश स्वास्थ्य विभाग को जांच के लिए बुलाया गया था।