रामदेव पीजी कॉलेज रानीपुर रजमो में वर्तमान परिस्थितियों के परिपेक्ष में छात्रों में असंतोष तथा भविष्य निर्माण में शिक्षक की भूमिका को लेकर किया गया सेमिनार

0
49

आजमगढ़/मोहम्मदपुर रामदेव पीजी कॉलेज रानीपुर रजमो मे बी.एड विभाग के अध्यापकों ने सेमिनार आयोजित किया जिसमें मुख्य अतिथि डॉक्टर ईश्वरचंद त्रिपाठी विशिष्ट अतिथि अवनीश कुमार अस्थाना जी आए डॉक्टर ईश्वरचंद त्रिपाठी श्री दुर्गा जी पीजी कॉलेज चंडेश्वर आजमगढ़ के असिस्टेंट प्रोफेसर हैं आपको बता दें कि ईश्वर चंद्र त्रिपाठी यह प्रसिद्ध कवि भी हैं जो कवि सम्मेलन भी करते हैं इसके साथ साथ यह सीरियल में अभी काम करते हैं इसी तारक मेहता का उल्टा चश्मा के सीरियल में भी उन्होंने काम किया है ईश्वर चंद त्रिपाठी ने कहा कि छात्र असंतोषजनक तब होता है जब उसको पढ़ने की जिज्ञासा नहीं होती अपने आप को केवल छात्र मान लेने से आप छात्र नहीं हो सकते हैं जब तक की छात्र के सारी भूमिका को अपने अंदर जब तक समाहित नहीं कर लेते ईश्वरचंद त्रिपाठी ने छात्र अध्यापको को मोटिवेशनल कहानियां के माध्यम से किस तरह वे अध्ययन कर आगे बढ़े छात्र अध्यापकों को मोटिवेट किया ईश्वरचंद्र त्रिपाठी प्रोफेसर साहब ने अपनी लिखी गई कविताओं को भी सुनाया और वहां पर उपस्थित छात्राध्यापक एवं सभी टीचरों को खूब लुभाया वहीं पर डॉक्टर अवनीश कुमार अस्थाना असिस्टेंट प्रोफेसर बी.एड विभाग टी एन पी जी कॉलेज टांडा अंबेडकर नगर से हैं उन्होंने छात्राध्यापकों के अध्ययन को लेकर कई बातें कहीं छात्र तथा अध्यापक के बीच के संबंधों को बताया किस प्रकार छात्रों के प्रति अध्यापकों का संबंध होना चाहिए उन्होंने कहा कि कभी-कभी छात्र कुछ ऐसे अध्यापक है जिससे वे बहुत स्नेह रखते हैं एवं उनकी बातों से उत्सुक रहते हैं वहीं पर देखा जाता है कुछ ऐसे अध्यापक है इसे छात्र प्रभावित ही नहीं होते अध्यापक का मुख्य उद्देश होना चाहिए जब तक छात्र संतुष्ट नहीं हो जाता तब तक उनको संतुष्ट करने की कोशिश करें तथा अध्यापक और छात्र के बीच अन्त: सम्बन्ध है उसको बनाए रखें, रामदेव पीजी कॉलेज बी.एड विभाग के मुख्य अध्यक्ष डीसी यादव ने मुख्य अतिथि तथा विशिष्ट अतिथि का का अभिवादन किया वहीं पर बी.एड विभाग के वरिष्ठ अध्यापक वरुण कुमार आयोजक कर्ता के रूप में बीच-बीच में अपनी वक्तव्य के माध्यम से लोगों को मोटिवेट करते रहे यहां पर उपस्थित शैलेश सर,रविंद्र सर, डॉक्टर आलोक सर, जयंत सर, अनिल सर, मोहम्मद सादिक सर, वरुण सर, राजेश सर, बरखु चौहान सर, डॉ अमरनाथ सर,एवं श्रीमती माया इत्यादि कॉलेज के कुशल एवं अनुभवी अध्यापक उपस्थित रहे

महेश कुमार की रिपोर्ट