मिशन 2022 बहुजन मुक्ति पार्टी की पूर्वांचल जोन स्तरीय परिवर्तन यात्रा पहुंची मुडिला बाजार

0
88

कादीपुर /सुलतानपुर आज दिनांक 6 अगस्त 2021 को बहुजन मुक्ति पार्टी की जोन स्तरीय परिवर्तन यात्रा मिशन 2022 को लेकर मुडिला बाजार में पहुंच गई जहां पर रामयश मौर्य सिद्धार्थ इंटर कॉलेज में सभा के रूप में संबोधित की गई ।जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में माननीय प्रोफेसर रामधारी दिनकर प्रदेश अध्यक्ष बीएमपी उत्तर प्रदेश थे, जिनका भव्य स्वागत किया गया और वक्ताओं के माध्यम से जनता को संबोधित किया गया और सन 2022 में बीएमपी की सरकार बनाने का दावा भी पेश किया गया ।वक्ताओं ने यह सवाल उठाते हुए बताया कि हम परिवर्तन क्यों चाहते हैं क्या क्या परिवर्तन चाहते हैं यह बताते हुए उन्होंने स समता स्वतंत्रता और न्याय के लिए और मूल निवासियों की दिशा और दशा परिवर्तन करने के लिए तथा देश को ब्राम्हणवाद से आजादी दिलाने के लिए यह परिवर्तन यात्रा चल रही है। वक्ताओं के रूप में मौलाना रफीउल्लाह ने कहा ओबीसी ,बीजेपी को वोट देकर अपने हाथ से अपनी कब्र खोद रहा है ब्राह्मण सम्मेलन पर बोलते हुए उन्होंने बीएसपी पर निशाना साधा और कहा कि दुश्मन को गोद में बैठा कर दूध पिलाया जा रहा है इससे बहुजनों का सबसे बड़ा नुकसान है उन्होंने बताया कि पचासी परसेंट लोगों के साथ सहयोग से चार बार बीएसपी और चार बार सपा की सरकार बनी 8 बार के सरकारों में बहुजन समाज को मजबूत होना चाहिए था जो कि नहीं हुआ।
बीएमपी के प्रदेश अध्यक्ष रामधारी दिनकर जी ने बताया कि हमारा जो भी मुद्दा है हम उसे स्टांप पेपर पर लिख कर देते हैं जोकि कोई पार्टी नहीं करती हमारा मुद्दा है न्यायिक जांच करवा कर मुसलमानों के बच्चोंको जेल से रिहा करवाना, समान शिक्षा नीति लागू करना ,ओबीसी की जाति आधारित जनगणना करना, जो लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं उन सबको उचित व्यवस्था करना, सभी मंदिरों का राष्ट्रीयकरण करना जिससे दान के पैसे से समाज का विकास किया जा सके। अगर 2022 में हमारे सरकार बनती है तो हम इन सभी मुद्दों को लागू करेंगे।हमारे इस परिवर्तन यात्रा में ईवीएम हटाओ बैलट पेपर लाओ लोकतंत्र बचाओ का हमारा सबसे बड़ा मुद्दा है जिस की लड़ाई हम लोग लड़ रहे हैं हमारी यह परिवर्तन यात्रा 6 जुलाई 2021 आजमगढ़ से चलकर 64 दिनों की यात्रा 22 जिलों में जाएगी और 11 सितंबर को पुणे आजमगढ़ में इसका समापन होगा

रिपोर्ट–राम सकल गौतम केमास न्यूज़ सुल्तानपु