छोटे छोटे बच्चों द्वारा रास्ते में पेशाब करने के कारण चली गोली

0
169

सेमरी तालुका पुरवा गाँव में गोली चलने की सूचना से पुलिस महकमों में मचा हडकंप

प्रयागराज पुलिस के कई थानों की फोर्स के साथ उच्च अधिकारी मौजूद रहे

प्रयागराज करछना- थानाक्षेत्र के सेमरी तालुका पुरवा में सुबह सात बजे के आसपास दो सगे परिवार के बीच में गोली चलने की सूचना से क्षेत्र में हलचल मचा रहा और आपको बताते हैं की रास्ते पर पेशाब करने को लेकर बहुत बडी़ घटना घट गयी! नीलकमल उर्फ नीलू उम्र 55 वर्ष के लगभग !यह हमेशा उसी रास्ते से आते जाते थे और वह पुराने जमीनी बटवारे से भी नाराज रहते थे! नीलकमल उर्फ नीलू ने बहुत बार रास्ते में पेशाब करने से मना किया था! लेकिन दीपक शुक्ला ,वैभव शुक्ला उर्फ बन्टी पुत्रगण दिनेश चन्द्र शुक्ला के छोटे बच्चों ने रास्ते में पेशाब कर देते थे! आज सुबह दिन सोमवार को नीलकमल उर्फ नीलू घर पर अकेला था और उसकी औरत व बच्चे रिश्तेदार के यहाँ गये हुए थे !अगर आज घर में औरत या बेटा होता तो शायद इतनी बड़ी घटना न घट पाती! जब सुबह विवाद शुरू हुआ तो पहले गालीगलौज हुई उसके बाद नीलकमल उर्फ नीलू ने घर में रखे लाइसेंसी एकनाल बंदूक व गोली लेकर पहुंचा और दीपक शुक्ला 34 वर्ष को सीधे मुंह के पास गोली मार दी और वह जमीन पर गिर गया जब दीपक शुक्ला का छोटा भाई वैभव शुक्ला उर्फ बन्टी ने बड़े भाई को उठाने के लिए झुका तो उसको भी गोली मार दी! और मौके से फरार हो गया! गाँव के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी! और मौके पर करछना थाना की पुलिस ने दोनों घायलों को जिलास्पताल शहर भेजा जहाँ डाक्टरों ने दीपक शुक्ला उम्र 34 वर्ष को मृत घोषित कर दिया ! और वैभव शुक्ला उर्फ बन्टी का इलाज शुरू कर दिया जहाँ पर हालत नाजुक बनी है! मौके पर चार थानों की फोर्स मौजूद रही! करछना थाना के इंसपेक्टर टीकाराम वर्मा, घूरपुर थाना इंसपेक्टर राकेश कुमार राय, औधोगिक थाना इंसपेक्टर संजीव कुमार चौबे, नैनी थाना इंसपेक्टर के. पी. सिंह तथा एसपी क्राइम सतीश चन्द्र, व क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार यादव, मौजूद रहे! सेमरी तालुका पुरवा गाँव में चाचा ने भतीजों को गोली मारकर गाँव से कुछ दूर गेंदालाल के धान की खडी़ फसल में छिपकर लेटा था वही मुखबिर की सुचना पर नैनी पुलिस थाना के इंसपेक्टर केपी सिंह व हे. कांस्टेबल राजीव यादव, कांस्टेबल अखिलेश यादव, कांस्टेबल आनंद यादव, करछना थाना उपनिरीक्षक धीरेन्द्र सिंह आदि सभी लोगों ने घेराबंदी कर नीलकमल उर्फ नीलू उम्र 55 वर्ष को पकड़ लिया गया! और उस समय भी एक नाल बंदूक में गोली भरकर तैनात रखा था! और नीलकमल उर्फ नीलू को करछना थाना ले गये! वहीं घर पर नात रिश्तेदारों का आना जाना लगा है! और दीपक शुक्ला के दो बेटे आदित्य शुक्ला, 8 वर्ष, आयुश शुक्ला, 6 वर्ष और पत्नी तथा दीपक शुक्ला की मृत्यु हो जाने की सूचना पर घर के सदस्यों का रो रो कर बुरा हाल है! वही करछना थाना इंसपेक्टर टीकाराम वर्मा ने नीलकमल उर्फ नीलू को हिरासत में लेकर विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करते हुए जेल भेजा!

प्रयागराज से ब्यूरो रिपोर्ट महावीर सिंह