हिंदू और मुस्लिम युवकों ने किया आरके हॉस्पिटल में स्वैच्छिक रक्तदानगंगा जमुनी तहजीब की मिसाल कायम

0
39

शाहगंज ( जौनपुर)
शाहगंज कस्बे के युवकों ने कुर्बानी के त्योहार बकरीद से पहले पड़ने वाले जुमा पर स्वैच्छिक रक्तदान किया और मानवता के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वाह किया । रक्तदान पुरानी बाजार स्थित आरके हॉस्पिटल के ब्लड बैंक में सम्पन्न हुआ, रक्त दान बचाएं जान जहां कुल 10 युवकों ने रक्तदान किया । कस्बा निवासी अब्दुल कयूम और बिस्मिल्लाह भाई ने युवकों को प्रेरित किया और हिंदू मुस्लिम युवकों ने एक साथ रक्तदान कर आपसी एकता हिंदू मुस्लिम भाईचारे की मिसाल कायम की ।
आरके हॉस्पिटल ब्लड बैंक के निदेशक डॉ जेपी दूबे ने बताया कि कस्बे के डिहवा भादी निवासी अब्दुल कयूम और बिस्मिल्लाह ने बकरीद के पहले पड़ने वाले जुमा को रक्तदान किया । ये दोनों पहले भी रक्तदान करते रहे हैं । इन्होंने अपने साथ सत्येंद्र यादव, प्रभाकर सिंह, शिव नारायण यादव, संदीप यादव, फैजान, सुफियान और जय प्रकाश यादव एडवोकेट के द्वारा भी रक्तदान करवाया और हिंदू मुस्लिम भाईचारे की मिसाल कायम की । रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र और उपहार देकर सम्मानित किया गया ।

डॉ दूबे ने बताया कि रक्तदान को लेकर लोगों में फैली भ्रांतियां गलत हैं । देश मे आए दिन सैकड़ों जानें समय पर रक्त नहीं मिलने के कारण चली जाती हैं । ऐसे में समाज को अपने कर्तव्यों के लिए जागरूक रहने की आवश्यकता है । उन्होंने बताया कि नियमित रक्तदान से शरीर में आयरन की मात्रा और रक्तचाप संतुलित रहता है । कैंसर और हार्ट अटैक का खतरा बहुत कम हो जाता है । नई रक्त कोशिकाएं बनती हैं । लीवर स्वस्थ रहता है और मोटापा पर असर पड़ता है । सबसे महत्वपूर्ण यह कि शरीर की रक्त प्रतिरोधक क्षमता लगातार बढ़ती है जिससे स्वास्थ सुरक्षित रहता है।
संवाददाता विनोद कुमार