रक्षाबंधन में लॉकडाउन में ढील होने के बावजूद भी देखने को मिला मिलाजुला असर

0
58

सुलतानपुर/सावन की पूर्णिमा पर पड़ने वाला यह त्यौहार हिंदुओं का सबसे बड़ा पवित्र त्यौहार माना जाता है इस दिन बहने अपने भाई के कलाई में रक्षा सूत्र बाधती हैं और उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं और भाई उन्हें यथाशक्ति उपहार देते हैं हर साल दुकानों पर बड़ी भीड़ व बाजारों में काफी चहल-पहल रहती थी लेकिन इस बार लोग इतने भयभीत थे कि लाकडाउन हटने के बाद भी वैसी रौनक नहीं रही। रोड पर पहले जैसी भीड़ नहीं रही।इसे लोगों की जागरूकता समझें या कोरोना का भय अथवा लाख डाउन में पुलिस की मार का डर,कारण जो भी हो ज्यादा तर बाजार में चहल-पहल काफी कम रही।

केमास न्यूज़ सुल्तानपुर