विद्यालय में शिक्षा व्यवस्था को ठेंगा दिखाते अध्यापक, समय का नहीं दे रहे ध्यान

0
6

अखंड नगर /सुल्तानपुर जिले की विकास खंड अखंड नगर के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में आज दिनांक 21/6 /2022 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देखा गया कि विद्यालय में ना कोई विद्यार्थी है न कोई अध्यापक विद्यालय को 9:00 बजे तक खोलना अनिवार्य है फिर भी अध्यापक और अध्यापिका समय पर नहीं पहुंच रहे हैं। जबकि समय भी लगभग 10:30 से अधिक हो रहा था। पूछने पर पता चला कि विद्यालय में बाबा राम दिनकर नामक चौकीदार तथा सभाजीत नामक चपरासी सोना देवी नामक PRD उपस्थित रहे ।विद्यालय के चौकीदार बाबा रामदेव ने बताया कि अध्यापक लोग कहे हैं तुम खाना बनाकर रखना हमलोग थोड़ा देर को आएंगे बाद में द्रोपती नामक रसोईया भी आ गई और बोली कि हमें समय पर साधन न मिलने के कारण हम लेट हो गए हैं। ऐसे में इन सब ने यह भी बताया कि यहां सिर्फ भोजन ही बनता है। यहां के अध्यापक यह कहते हैं कि खाना बनाने के बाद तुम लोग बच्चों की पढ़ाई का भी ध्यान किया करो ।क्योंकि यह बच्चे तुम लोगों के घर गांव से ही है। कि बच्चों को अच्छी शिक्षा मिल रही है कि नहीं ऐसे में सवाल ये उठता है कि अगर विद्यालय को चौकीदार या चपरासी ही चलाएंगे तो सरकार ने इन अध्यापकों के ऊपर इतना पैसा क्यों खर्च करती है ।और क्यों इनको नियुक्त किया है ।अगर इसी तरीके से शिक्षा का स्तर रहा तो आने वाला समय बहुत ही दुखदाई होगा ।इस तरह की शिक्षा व्यवस्था की आखिर जिम्मेदारी किसकी है इस पर सुधार कब होगा ।

वीके अग्निहोत्री के मास न्यूज़ अखंड नगर सुल्तानपुर