बच्चों को रटने की जगह समझने वाली शिक्षा समय की मांग

0
17

अखंडनगर (सुल्तानपुर) जूनियर हाई स्कूल अखंड नगर में वार्ता के दौरान अध्यापकों से विक्रम यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ जितेंद्र पांडे ने कहा कि आज के समय की मांग है बच्चों को रखने वाली शिक्षा के बजाय उनको जो है समझने वाली शिक्षा देनी चाहिए क्योंकि आज कीप्रतियोगी परीक्षाएं जो होती है उनमें यही देखा जाता है कि कैंडिडेट कितना समझा है ना कि कितना रटा है उन्होंने यह भी कहा कि विद्यार्थियों को पर्यावरण की भी शिक्षा चाहिए पर्यावरण को बनाए रखने के लिए पेड़ का लगाना बहुत जरूरी है क्योंकि पेड़ काटे ज्यादा जा रहे हैं लगाए कम जा रहे हैं पेड़ों की उपयोगिता बताते हुए उन्होंने कहा कि पेड़ हमारे लिए हो प्राणवायु ऑक्सीजन देते हैं साथ में लकड़ी और फल भी देते हैं इसी वार्ता को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि गांव के बच्चों को कृषि का ज्ञानऔर तकनीकी शिक्षा की भी जरूरत है तभी हमारा गांव विकसित होगा आगे वार्ता को बढ़ाते हुए उन्होंने इस बात पर जोर दिया शिक्षा के द्वारा हमजैसे अपने गांव बेहरा भारी से निकलकर विक्रम यूनिवर्सिटी के कुलपति हुए हैं इसी प्रकार से गांव का हर बच्चा आगे बढ़कर देश से विदेश तक देश का नाम ऊंचा करें तब हमारा भारत सही मायने मेंआगे बढ़ता हुआ नजर आएगा

इस प्रकार से अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य जी ने कुल पति जी का धन्यवाद दिया तथा उन्हें अपने पैतृक ग्राम बेहरा भारी आने के लिए उनका आभार व्यक्त किया और साथ-साथ उन्होंने कहा कि अगर आप यहां आए ना होते तो हमको आपका आशीर्वाद नहीं मिला होता

वीके अग्निहोत्री के मास न्यूज़ अखंड नगर