जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण हुआ सम्पन्न

0
79

सुल्तानपुर/जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी रवीश गुप्ता की अध्यक्षता में विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 में लगे मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण प्रदान करने लिए मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण विकास भवन के प्रेरणा सभागार में पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न 2 बजे तक संचालित किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि इस चुनाव को सावधानी पूर्वक व दिए गए निर्देशों के क्रम में सम्पन्न कराना है। वी0वी0पैट0 के नॉब को सफ़र के समय हॉरिजॉन्टल और वोटिंग के दौरान वर्टिकल करना है। उन्होंने बताया कि पिछले चुनाव के बाद इस ई0वी0एम्0 में जो परिवर्तन हुए हैं, उन पर ज्यादा फोकस किया जायेगा तथा मतदान समाप्ति के पश्चात वी. वी. पैट की बैटरी निकाल लेंगे और इसे संग्रहण स्थल पर जमा करायेंगे।

मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स ने सभी मास्टर ट्रेनर को निर्देशित किया कि मॉकपोल कराने के बाद कण्ट्रोल यूनिट को क्लियर अवश्य करें तथा वी. वी. पैट के ड्राप बाक्स में गिरी मॉकपोल की पर्ची को निकाल कर उसके पीछे मुहर लगाकर इसे काले लिफाफे में रखकर सील करेंगे फिर इसे प्लास्टिक के डिब्बे में रखकर पिंक पेपर से सील करेंगे। इन सभी पर मतदान अभिकर्ता के हस्ताक्षर करायें व पीठासीन अधिकारी स्वयं भी हस्ताक्षर करेंगे। उन्होंने बताया कि स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव कराना हम सभी का लक्ष्य है। जिला विकास अधिकारी व स्टेट मास्टर ट्रेनर डॉ. डी.आर. विश्वकर्मा ने बताया कि इस प्रशिक्षण में 80 मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षण हेतु बुलाया गया था, जिसमें सभी लोग उपस्थित हुए।
उन्होंने बताया कि मतदाता के बायें हाथ की तर्जनी पर अमिट स्याही लगाई जायेगी। प्रथम मतदान अधिकारी मतदाता की पहचान करने के बाद निर्वाचक नामावली में पुरुष मतदाता होने पर नाम के खाने में तिरछी लाइन खीचेंगे तथा महिला मतदाता होने पर तिरछी लाइन खींचने के साथ ही साथ नाम के बायें तरफ क्रमांक पर गोले का निशान भी लगायेंगे। ट्रांसजेंडर की स्थिति में तिरछी लाइन के साथ साथ ऊपर क्रमांक पर त्रिभुज का निशान लगा दिया जायेगा। उन्होंने सभी मतदान कार्मिकों से मास्क लगाकर मतदान प्रक्रिया में भाग लेने का सुझाव दिया। स्टेट मास्टर ट्रेनर जिला कृषि अधिकारी ने मतदान के दौरान आवश्यक सावधानी पर चर्चा की। मास्टर ट्रेनर सत्यदेव पाण्डेय ने ई. वी.एम. व वी.वी. पैट के कनेक्शन पर चर्चा करते हुए बताया कि बैलेट यूनिट को वी. वी. पैट से व वी. वी. पैट को कंट्रोल यूनिट से कनेक्ट करेंगे। उन्होंने बताया कि मतदान से एक दिन पूर्व व मतदान दिवस के दिन तथा मतदान समाप्ति पर पीठासीन अधिकारी को क्या-क्या कार्य करना होगा। इस पर विस्तार से चर्चा की गयी। मास्टर ट्रेनर सुनील कुमार सिंह ने चौलेंज वोट, टेन्डर वोट, कम्पेनियन, पीठासीन की डायरी, मतदान अभिकर्ता के फार्म, मतपत्र लेखा, मतदाता रजिस्टर आदि पर विस्तार से चर्चा की।
प्रशिक्षण व्यवस्था की पूरी तैयारी डॉ. जनार्दन राय द्वारा की गयी। पी.पी.टी. बनाने व चलाने में वकील अहमद ने सराहनीय योगदान दिया। इसमें रणवीर सिंह, संतराम, जगन्नाथ, सुनील वरनवाल, शशांक सिंह, शरद चतुर्वेदी, अजय सरोज आदि उपस्थित रहे। समतदान कार्मिकों की उपस्थिति लेने में मृत्युंजय सिंह, राम तीर्थ आदि ने सहयोग किया।

के मास न्यूज़ सुल्तानपुर