गाजीपुर में वृक्षारोपण जन आंदोलन-2022 के अंतर्गत बृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया

0
37

 

गाजीपुर/गाजीपुर जिला में वृक्षारोपण जन आंदोलन 2022 के अंतर्गत बृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन आर.टी.आई छात्रावास परिसर गाजीपुर में धूमधाम से सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि माननीय राज्य मंत्री श्रम एवं सेवायोजन विभाग उत्तर प्रदेश मनोहर लाल (मन्नू कोरी) ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया । सर्वप्रथम मंच पर आसीन मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों को बुके देकर स्वागत किया गया। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा पूरे उत्तर प्रदेश में आज 35 करोड़ वृहद वृक्षारोपण का लक्ष्य रखा गया है, जिसे पूरा करना हमारा कर्तव्य है। इसी क्रम में जनपद में 41 लाख 50 हजार 91 पौधरोपण किया जाना है । उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश के अंदर वृक्षारोपण अति आवश्यक है क्योंकि वनों एवं पेड़ पौधों से जड़ी बूटियां, औषधियां, फल, फूल प्राप्त होते है तथा इसका लाभ आम जन को प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि 5 जुलाई, 6 जुलाई एवं 7 जुलाई 2022 तक प्रत्येक परिवार अपने आस पास पड़ोस में एक-एक वृक्ष अनिवार्य रूप से लगाने की अपील की तथा कहा कि एक वृक्ष लगाना 10 पुत्र/पुत्रियों के बराबर है । एक वृक्ष लगाने से आपका सम्मान, आपका अभिमान ,तथा आपका विश्वास सबसे ज्यादा बढ़ेगा क्योंकि इस से उपजे फलों का लाभ आपकी आने वाली पीढ़ियो को प्राप्त होगा। उन्होंने लोगो से अपने आंगन में ज्यादातर नीम के वृक्ष लगाने पर बल दिया, क्योंकि यह एक औषधीय वृक्ष है, जिसके उपयोग से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है एवं कई प्रकार की बीमारियों से निरोग रहता है। उन्होने कहा कि पेड़ जहां होते हैं वहां की जलवायु भी ठीक रहती है तथा समय से वर्षा भी होती है । माननीय मुख्यमंत्री एवं माननीय प्रधानमंत्री जी देश और प्रदेश के विकास एवं तरक्की के लिए दिन रात एक कर 18- 18 घंटे तक कार्य कर रहे हैं तथा अपने देश-प्रदेश को ही अपना परिवार मानते है। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी मे हमारे प्रधानमंत्री जी ने ऐसी वैक्सीन बनवाई जो इस बीमारी मे कारगर साबित हुआ इसके साथ ही विदेशों में कम से कम 100 देशों में भी कोरोना कि वैक्सीन भिजवाकर वहां के लोगों को बचाने का काम किया है।जिससे माननीय प्रधानमंत्री एवं भारत देश का डंका विदेशों में बजा है। उन्होंने कहा कि आज जो पौधे आप लोगों को दिए गए हैं उसे अपने घर, आस-पास -पड़ोस, ग्रामों में अवश्य लगाएं तथा दूसरे व्यक्तियों , परिवार के लोगों को भी पौधरोपण से होने वाले लाभों की जानकारी देते हुए उन्हे भी वृक्षारोपण के प्रति प्रेरित करें तथा अधिक ऑक्सीजन देने वाले वृक्षों को लगाने की अपील की। उन्होने कहा कि जब तक पौधे वृक्ष का रूप धारण नहीं कर लेते तब तक उनकी सेवा करते हुए उनकी रक्षा करने हेतु आमजन से आह्वाहन किया।जिलाधिकारी एम पी सिंह ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में सघन वृक्षारोपण अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में आज जनपद गाजीपुर में भी उत्तर प्रदेश शासन द्वारा दिए गए लक्ष्य से ज्यादा पौधरोपण का प्रयास किया जा रहा है। पौधरोपण कार्यक्रम जनपद स्तर के अलावा समस्त तहसीलों, विकास खण्ड मुख्यालयो तथा ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित कराये जाने का प्रयास किया गया । आज जनपद में पौधरोपण का लक्ष्य 29 लाख 45 हजार 700 है । दिनांक 5 जुलाई 6 जुलाई तथा 7 जुलाई 2022 तक लगातार तीन दिनों तक वृक्षारोपण का कार्य जनपद में चलाते हुए जनपद में शासन स्तर से प्राप्त 41 लाख पौधरोपण का लक्ष्य पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण हमारे पर्यावरण के लिए कितना महत्वपूर्ण है यदि आप डाटा मिलान करेंगे तो पाएंगे कि हिंदुस्तान में जितने भी राज्य हैं उनमें मध्य प्रदेश प्रथम स्थान पर है क्योंकि वहां पौधरोपण सबसे अधिक है। लेकिन उत्तर प्रदेश 22वें स्थान पर आता है। हमारे यहां पौधरोपण मात्र 6.15 प्रतिशत है जो बहुत कम है। उन्होंने पौधरोपण प्रतिशत को बढ़ाने का अनुरोध करते हुए कहा कि आज के दिन इस संकल्प के साथ जाएं और अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने का प्रयास करें। आप जहां भी जिस रूप में रहे वृक्षारोपण अवश्य करें तथा उन वृक्षों को बचाने का भी प्रयास करें। प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी ने कहा कि आज इस वन महोत्सव-2022 के कार्यक्रम में पूरे प्रदेश में वृक्षारोपण जन आंदोलन का कार्यक्रम चल रहा है । इसी क्रम में जनपद गाजीपुर में आज एक दिन में कुल 29 लाख 45 हजार 700 पौधे जनपद स्तर, तहसील , विकास खण्ड स्तर एवं ग्राम पंचायत स्तर पर लगाए जा रहे हैं इसी के साथ 6 एवं 7 जुलाई 2022 को भी यह वृक्षारोपण जनआंदोलन चलता रहेगां उन्होंने वृक्षारोपण की विशेषताओं की विस्तृत रूप से जानकारी देते हुए कहा कि इस वृक्षारोपण में शक्ति वन, खाद्यवन, बाल वन, युवा वन तथा आजादी के अमृत महोत्सव के शुभ अवसर पर अमृत वन की स्थापना किया जा रहा है । यह चार दिवस 5 जुलाई ,06 जुलाई , 07 जुलाई तथा 15 अगस्त 2022 तक यह वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जायेगा। जिलाअध्यक्ष भा0ज0पा0 भानु प्रताप सिंह ने कहा की वृक्ष पर्यावरण की दृष्टि से कितने महत्वपूर्ण है यह आप सभी जानते हैं । पर्यावरण को स्वच्छ और सुंदर रखने के लिए हमें वृक्ष लगाना अति आवश्यक है । उन्होने उपस्थित सभी लोगो से आह्वाहन किया कि वृक्षारोपण अवश्य करे, क्योंकि वृक्ष ही जलवायु परिवर्तन का कारण है ।
अध्यक्ष नगर पालिका परिषद सरिता अग्रवाल ने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन का महत्वपूर्ण अंग है क्योंकि जीवन दायिनी गैस ऑक्सीजन हमे वृक्षों से ही प्राप्त होती हैं । अन्य प्रदेशों की तुलना में उत्तर प्रदेश में वृक्षों का अनुपात कम है। हमारे मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी का सपना है कि उत्तर प्रदेश को एक हरा-भरा प्रदेश बनाने का है जिसे हम लोगो को मिल जुल कर पूरा करना है। उन्होने कहा कि 03 जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक जनपद में प्रतिबंध किया गया है अतः आप सभी लोग इसके उपयोग से बचें । क्योंकि इसके वजह से पर्यावरण प्रदूषण होता है।
कार्यक्रम में आदर्श बौद्ध इंटर कॉलेज ,लुर्दस कॉन्वेंट बालिका इंटर कॉलेज, डीएवी इंटर कॉलेज, एन सी सी, भारत स्काउट गाइड, एन एस एस, राजकीय सिटी इण्टर कालेज, के छात्र छात्राएं एवं नेहरू युवा केंद्र के वॉलिंटियर उपस्थित रहे हैं। जिसमें डीएवी इंटर कॉलेज के आशुतोष, लूर्दस कान्वेंट की छात्रा समाया, आदर्श बौद्ध इण्टर कालेज के छात्र रामअवतार प्रसाद एवं अन्य विद्यालयों के छात्र-छात्रओ ने वृक्षारोपण के फायदो की जानकारी देते हुए अपने-अपने विचारो को रखा । इस कार्यक्रम में गायक एवं प्रशिक्षक विद्या निवास पाण्डेय द्वारा अपने मधुर स्वर के साथ कजरी गीत की प्रस्तुति की गयी जिससे उपस्थित समस्त लोग मंत्रमुग्ध हो गये। कार्यक्रम के अंत में माननीय मुख्य अतिथि, जिलाधिकारी , पुलिस अधीक्षक, एवं अन्य अतिथियों ने पूरे विधि विधान एवं मंत्रोचारण के साथ परिसर में ही पौधरोपण किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक रोहन पी0 बोत्रे, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता, एस पी सिटी गोपी नाथ सोनी, उपजिलाधिकारी सदर प्रतिभा मिश्रा, जिला युवा अधिकारी कपिल देव, क्षेत्राधिकारी सदर गौरव कुमार, डी सी मनरेगा, पूर्व चेयरमैन विनोद अग्रवाल, एंव अन्य अधिकारी एंव कर्मचारी तथा आमजन उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन नेहरू युवा केन्द्र के लेखा एवं कार्यक्रम सहायक सुभाष चन्द्र प्रसाद ने किया।

जय प्रकाश चंद्रा,
सब ब्यूरो चीफ, गाजीपुर