बकरीद में नहीं होगी कुर्बानी,ली गई हर घर की तलाशी फायर सर्विस, वार्लेश टीम तैनात

0
390

नहीं होगी कुर्बानी, ली गई एक-एक घर की तलाशी
डेढ़ प्लाटून पीएसी, 10 उपनिरीक्षक, 55 हेड कांस्टेबल, 18 महिला सिपाही, फायर सर्विस, वार्लेश टीम तैनात
आजमगढ़ मुबारकपुर थाना क्षेत्र का लोहरा गांव बकरीद की पूर्व संध्या पर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस द्वारा घर-घर जाकर जानवरों की सघन तलाशी की गयी। घरांे के अन्दर तलाशी करने के लिए दो दर्जन से अधिक महिला व पुरूष सिपाही गांव में तैनात किये गये हैं। तलाशी लेने के लिये दो टीम बनायी गयी है। एक टीम का नेतृत्व क्षेत्राधिकारी सदर सौम्या सिंह व प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र बहादुर सिंह और दूसरी टीम का नेतृत्व अपराध प्रभारी निरीक्षक वेंकटेश्वर तिवारी कर रहे हैं। बकरीद से एक दिन पहले शनिवार को सांय लोहरा गांव में जानवरों की गहन तलाशी करने के लिये पुलिस प्रशासन हरकत में आ गया।
बता दें कि तीन दशक पूर्व 1992 में लोहरा में कुर्बानी को लेकर उपजे विवाद बड़ी घटना का रूप ले लिया था। जब यह मामला न्यायालय पहुंचा तो न्यायालय ने उसी समय से लोहरा गांव की सीमा में कुर्बानी पर रोक लगा दी जो आज तक निरन्तर जारी है। आज फिर बकरीद का पर्व आते ही एक दिन पूर्व से ही न्यायालय के आदेश के अनुपालन में पुलिस पूरी तरह सतर्क हो गयी।
क्षेत्राधिकारी सदर सौम्या सिंह के निगरानी में पुलिस प्रशासन के लोग भारी संख्या में गांव में पहुंचे और सभी घरों की तलाशी लेने के लिए दो टीम बनाई गई और टीमें तलाशी का काम कर रही हैं। घरांे के अन्दर तलाशी लेने के लिये महिला पुलिस घर में घुसकर गहन तलाशी कर रहीं हैं। तलाशी के दौरान अब तक कोई प्रतिबंधित जानवर गांव में नही पाया गया। प्रतिबंधित जानवरों के लिए एक बाड़ा बनाया गया है जो सुनसान जगह हैं। गांव के लोग अपने पालतू जानवरों को अगल-बगल के गांव में पहुचा देते हैं। बाद मे वापस ले आते हैं। इस प्रकार कुर्बानी का पर्व बकरीद खाकी वर्दी के संगीन पहरे मे मनाया जाता है। इस अवसर थाना प्रभारी निरीक्षक योगेंद्र बहादुर सिंह, लोहरा चौकी इंचार्ज अश्वनी मिश्र, हौशिला प्रसाद सिंह सहित राजस्व टीम में कानूनगों कैलाश यादव, विनय सिंह, लेखपाल संदीप मौर्या, आनन्द मौर्य, आसिफ जमाल, पंकज सिंह के देख रेख मे कांस्टेबल महिला व पुरुष शामिल रहे। सुरक्षा व्यवस्था में लोहरा गांव में डेढ़ प्लाटून पीएसी, 10 उपनिरीक्षक, 55 हेड कांस्टेबल, 18 महिला सिपाही, फायर सर्विस, वार्लेश टीम लगायी गयी हैं।