प्रख्यात विद्वान पण्डित कांता शुक्ला शास्त्री का आकस्मिक निधन

0
14

केराकत 1अक्टूबर। क्षेत्र के बेहड़ा गाँव निवासी प्रख्यात कर्मकांडी ब्राह्मण व अवकाश प्राप्त प्रधानाचार्य पण्डित कांता प्रसाद शुक्ला (शास्त्री) के निधन से क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। गौरतलब है कि बेहड़ा गाँव निवासी पं. कांता प्रसाद शास्त्री (89 वर्ष) की सेहत विगत कुछ दिनों से खराब चल रही थी, जिनका इलाज पीजीआई लखनऊ में चल रहा था, जहाँ तीन दिन पहले डॉक्टरो की टीम ने बताया की लिवर इंफेक्शन नही थम रहा व ऑक्सीजन लेवल भी गिरता जा रहा है, स्थिति की गम्भीरता व चिकित्सकों के जवाब के बाद स्वजन पैतृक निवास बेहड़ा लेकर आये जहाँ आज सुबह लगभग 11 बजे शास्त्री जी ने देह त्याग किया।

शास्त्री जी की ख्याति कई जनपदों तक थी। निधन की खबर सुनते ही शोक व्यक्त करने वालो का तांता लग गया, शास्त्री जी के शरीर को शुक्रवार के शाम को वाराणसी स्थित मणिकर्णिका घाट पर पंचतत्व में विलीन हुए, मुखाग्नि सबसे छोटे पुत्र शशि प्रकाश शुक्ल ने दिया। शास्त्री जी अपने पीछे तीन पुत्रो व तीन पुत्रियों का भरा-पुरा परिवार छोड़ गए हैं।
रिपोर्टर राजेश कुमार गुप्ता
चन्दवक जौनपुर