चिकित्सक दम्पति के आवास से चोरी में छह गिरफ्तार, 76 लाख रुपए बरामद

0
101

अम्बेडकरनगर। मेडिकल कालेज के पूर्व चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेश यादव और उनकी पत्नी डा. मनीषा यादव के टांडा स्थित आवास से करीब एक माह पूर्व हुई 81 लाख 50 हजार की भीषण चोरी के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने सोमवार की देर शाम को मामले का खुलासा करते हुए एक महिला समेत छह लोगों को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से 76 लाख की बड़ी रकम बरामद की है।

महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज के पूर्व चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेश्वर यादव व सागर हास्पिटल की मालकिन उनकी पत्नी डा. मनीषा यादव बीते 31 अगस्त को लखनऊ गए हुए थे। टांडा स्थित आवास पर डा. राजेश्वर यादव के पिता क्रान्ति कुमार यादव ही थे। वह रात्रि में गेट व दरवाजों पर ताला बंद कर सोने चले गये। रात्रि में आवास में घुसे चोरों ने कई कमरों का ताला तोड़कर लाखों की नगदी और जेवरात पार कर दिया था। चोरी की जानकारी चिकित्सक के पिता को एक सितंबर की सुबह हो सकी। पुलिस अधीक्षक ने घटना का खुलासा करते हुए टांडा कोतवाली पुलिस के साथ स्वाट टीम को भी लगाया था। दो दिन पूर्व ही स्वाट टीम ने आधा दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया था। उनके कब्जे से चोरी का माल भी बरामद कर लिया था। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने सोमवार को बताया कि हिरासत में लिए गए दिलदार उर्फ मोनू पुत्र मोहम्मद सईद छज्जापुरा, महफूज पुत्र शमशाद नैपुरा, मोहम्मद फैजान पुत्र मोहम्मद अख्तर नैपुरा, अशरफ पुत्र मोहम्मद शमीम मीरानपुर, गुफरान उर्फ कफ्र्यू पुत्र मुन्ना छज्जापुर चटोरी गली और उसकी पत्नी आमिना सभी निवासीगण कोतवाली टांडा से कड़ाई से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपियों ने चिकित्सक के आवास से 81 लाख 50 हजार की चोरी की घटना में शामिल होने की बात कबूल की। उनके कब्जे से 76 लाख रुपए की भारी भरकम रकम बरामद की गई है। एसपी ने बताया कि दिलदार उर्फ मोनू, महफूज, फैजान, अशरफ घटना के मुख्य अभियुक्त हैं, जबकि गुफरान और उसकी पत्नी आमिना घटना की साजिश में शामिल रहीं। गिरफ्तार किए गए सभी चोरों के खिलाफ चोरी व माल बरामदगी की धारा में टांडा कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।