योगी सरकार की गौशाला व्यवस्था पूरी तरह से फेल, आवारा पशुओं से किसानों में आक्रोश ।

0
85

आजमगढ़:तरवाँ पल्हना विकासखंड के अवनी ग्राम सभा में आवारा पशुओं से किसान परेशान हो चुके हैं इनकी समुचित व्यवस्था ना होने के कारण से आवारा पशु किसानों के फसलों को काफी नुकसान पहुंचा रहे हैं जिससे किसानों में काफी आक्रोश है।
किसानों ने बताया कि योगी सरकार की आवारा पशुओं पर नीति पूरी तरह से फेल है क्योंकि इन आवारा पशुओं का कोई उचित प्रबंध नहीं किया गया है जिससे यह हमारी फसल को आए दिन नुकसान पहुंचा रहे हैं जबकि हम गरीब किसान इतनी मेहनत से और इतनी महंगी लागत लगा के फसल तैयार करते हैं जबकि इन आवारा पशुओं के कारण हमारा फसल बर्बाद हो जाता है जिस पर सरकार ने अब तक कोई उचित व्यवस्था नहीं किया है जगह-जगह गौ शालाओं को चिन्हित किया गया है लेकिन अब भी उनका निर्माण नहीं किया जा सका जिससे आए दिन हमारे फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।
आज अवनी ग्राम सभा के लोगों ने मिलकर आवारा पशुओं को पकड़ा और उसको अपने पैसे से पिक अप में लादकर दूसरे स्थानों पर छोड़ा जबकि सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया था कि वह आवारा पशुओं को रखने के लिए उचित व्यवस्था करें और जगह-जगह गौशालाओं का निर्माण करवाएं और इसकी जिम्मेदारी जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी को दिया है ग्राम प्रधान की जिम्मेदारी है कि वह जगह-जगह से आवारा पशु को इकट्ठा करवाएं और उनको गौशाला में ले जाकर रखें लेकिन अब तक ऐसा देखने को नहीं आया है इस पर ग्रामवासी काफी आक्रोशित है और योगी सरकार की इस नीति का पुरजोर विरोध कर रहे हैं।
आवारा पशुओं को पकड़ने में दुर्गेश सिंह, प्रमोद सिंह ,आनंद सिंह ,मनोज रोहित ,पंकज ,दिनेश, दीपक, भोला ,आलोक ,आदि लोगों ने मिलकर आवारा पशुओं को पकड़ा और अपने खर्चे से पिक अप पर लादकर उन पशुओं को उचित स्थान पर ले जाकर छोड़ा।
अब सरकार की जो नीति चल रही है वह कितना कारगर सिद्ध होगी यह देखने वाली बात होगी लेकिन अब तक योगी सरकार की यह नीति पूरी तरह से फेल साबित होती दिखाई दे रही है क्योंकि पूरे उत्तर प्रदेश में किसानों में काफी आक्रोश है इन आवारा पशुओं को लेकर यह सिर्फ एक गांव का मामला नहीं है करीब करीब हर जिले में इन सभी आवारा पशुओं से गरीब किसान और आम आदमी सब लोग परेशान हो चुके हैं लेकिन अब तक इन आवारा पशुओं के लिए कोई भी उचित प्रबंध नहीं किया गया जहां गौशालाओं का निर्माण भी किया गया तो वहां पर भी उन गौ शालाओं भी में भी इनकी आए दिन मृत्यु होती रहती है।
योगी सरकार चाहे लाख दावे कर ले लेकिन आवारा पशुओं को गौशालाओं में रखने की जो नीति है वह अब तक फेल साबित होती दिखाई दे रही है