लम्बे समय से चली आ रही ग्रामीणों की मांग को देखते हुए लोक निर्माण विभाग ने तीन स्थानों पर लघु सेतु का निर्माण कराने का लिया निर्णय

0
64

अंबेडकरनगर

जिले के टांडा व कटेहरी ब्लॉक क्षेत्र के लगभग 30 गांव की करीब 40 हजार आबादी के लिए प्रांतीय खंड लोक निर्माण विभाग द्वारा जल्द ही कटेहरी ब्लाक क्षेत्र में मझुई नदी पर पूरेदरबार गांव के पास पुल का निर्माण कराया जाएगा। इसके अलावा टांडा ब्लाक क्षेत्र के भिदूण गांव के पास व श्रवणतारा के पास पुल का निर्माण किया जाएगा। इन तीनों लघु सेतु निर्माण के लिए विभाग को 3 करोड़ 63 लाख 89 हजार रुपये की स्वीकृति मिली है। इन पुलों के निर्माण से कई गांवों की आपस में दूरियां भी कम हो जाएंगी। इससे आम नागरिकों को आवागमन में काफी आसानी होगी।
जिले का भीटी तहसील क्षेत्र विकास के कई मामले में पिछड़ा हुआ है। इस क्षेत्र से मझुई नदी के गुजरने से जहां एक बड़ी आबादी को सिंचाई का लाभ मिलता है, वहीं दर्जनों गांव ऐसे हैं जिन्हें आवागमन संकट से जूझना पड़ता है। पर्याप्त पुल न होने के चलते कई गांवों के ग्रामीणों को कई किलोमीटर तक अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ती है। कटेहरी विकास खंड क्षेत्र के पूरेदरबार, बहोना शरीफ, मल्लेपुर, खड़ंसा, किछूटी, कोर्रा डंड़वा, दहेमा, तेरिया, पमोली, उधरना, संझवा, मंझवा सहित दर्जनों ऐसे गांव हैं जो मझुई नदी के दोनों तरफ बसे हैं। नदी को पार करने के लिए इन गांवों के बीच कोई नजदीकी पुल नहीं है। ऐसे में संबंधित क्षेत्र के ग्रामीणों को दूर दराज के पुल व बंधों का सहारा लेना पड़ता है। इससे उन्हें अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ती है। भीटी ब्लॉक मुख्यालय, सुल्तानपुर जाना हो या फिर दूसरे छोर पर बसे ग्रामीणों को गोसाईगंज या अयोध्या जाना हो तो काफी मुश्किल होती है। ग्रामीण लंबे समय से इस समस्या को उठा रहे थे। इस बीच अब प्रांतीय खंड लोक निर्माण विभाग ने दर्जनों गांवों की इस समस्या को दूर करने का निर्णय लिया है। मझुई नदी पर पूरेदरबार के बहोना सरीफ के पास शासन से पुल निर्माण की स्वीकृति प्राप्त कर ली है। इसके लिए शासन ने 1 करोड़ 80 लाख 6 हजार रुपए की स्वीकृति प्रदान की है। इससे करीब 20 हजार आबादी को सुचारु आवागमन का लाभ मिलेगा।
सहायक अभियंता एसके सिंह ने बताया कि इसके अलावा प्रांतीय खंड ने वित्तीय वर्ष 2019-20 में ही टांडा ब्लाक क्षेत्र में दो लघु सेतु निर्माण की स्वीकृति शासन से प्राप्त की है। 1 करोड़ 11 लाख रुपए की लागत से भिदूर डडिय़ा तेवरिया का पूरा के पास स्पॉन आरसीसी लघु सेतु का निर्माण होगा, जबकि 72 लाख 83 हजार रुपए की लागत से श्रवणतारा पुल किछौछा रोड हाइवे से गढ़ा चौराहा मार्ग पर स्पॉन आरसीसी लघु सेतु का निर्माण होगा। इन दोनों स्थानों पर लघु सेतु के निर्माण से करीब 20 हजार आबादी को सुचारु आवागमन का लाभ मिलेगा। इसके अलावा बारिश के समय होने वाले जलभराव से भी निजात मिलेगी। पुल निर्माण की प्रक्रिया प्रांतीय खंड ने शुरू कर दिया है। विभाग के इस निर्णय से आम नागरिकों में खुशी का माहौल है। लम्बे समय से चली आ रही ग्रामीणों की मांग को देखते हुए विभाग ने तीन स्थानों पर लघु सेतु का निर्माण कराने का निर्णय लिया है। इसमें मझुई नदी पर बनने वाले पुल से एक बड़ी आबादी को लाभ मिलेगा। तीनों स्थानों पर निर्माण कार्य शुरु करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया पूरी की जा रही है।