कलेक्ट्रेट सभागार में सार्वजनिक भूमियों से अतिक्रमण हटाये जाने तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु बैठक सम्पन्न

0
40

टीआजमगढ जिला अधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह व पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सार्वजनिक भूमियों से अतिक्रमण हटाये जाने तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु बैठक सम्पन्न हुईकानून व्यवस्था के अन्तर्गत जिलाधिकारी ने समस्त सीओ को निर्देश दिये कि पीस कमेटी की बैठक कराना सुनिश्चित करें तथा पीस कमेटी के सदस्य में कोई भी आपराधिक प्रकृति का व्यक्ति नही होना चाहिए, तथा धार्मिक संगठनों के व्यक्तियों से बातचीत करें। वर्तमान समय में विभिन्न समुदाय के मूर्ति तोडऩे के केस सामने आ रहे हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने सीओ तथा एसएचओ को निर्देश दिये कि जिन क्षेत्रों ऐसी घटना हो, उसमें संलिप्त पाये गये दोषी व्यक्ति के ऊपर कड़ी कार्यवाही करते हुए जेल भेजना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने पुलिस के अधिकारियों को निर्देश दिये कि समाज में अच्छा कार्य करें, जिससे समाज में एक अच्छी छवि बनें। पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने पुलिस के सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि महिला उत्पीडऩ से संबंधित मामलों में एफआईआर लिखने में किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें, संबंधित व्यक्ति के दोषी पाये जाने पर कड़ी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही उन्होने कहा कि जनपद में 162 संवेदनशील स्थानों को चिन्हित किया गया है, इन स्थानों पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करें तथा फुट पेट्रोलिंग करें और उसकी फोटो भी भेजना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही एसपी ने कहा कि सोशल मीडिया की मानिटरिंग करें, इसी के साथ ही डिजिटल वालेन्टियर की बैठक करें। सार्वजनिक भूमि से अतिक्रमण हटाये जाने के संबंध में जिलाधिकारी ने एसडीएम तथा खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अतिक्रमण अभियान 5 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक प्रत्येक गॉवों में चलाया जायेगा, इसमें एसडीएम/खण्ड विकास अधिकारी, लेखपाल तथा सेक्रेटरी की बैठक कर लें तथा सार्वजनिक उपयोगिता की जमीनों में तालाब, पोखरा, नाला, चकरोड, सेक्टर रोड, खेल का मैदान, चारागाह, नवीन परती, बंजर आदि अतिक्रमण किये गये भूमि को चिन्हिकरण/सीमांकन कर मनरेगा के अन्तर्गत कार्य कराना सुनिश्चित करें, जिससे उक्त समस्याओं का स्थाई हल हो सके। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि अतिक्रमण से संबंधित अभियान चलाये जाने वाले गॉवों में कहीं भूमि विवाद, तथा आईजीआरएस से संबंधित लम्बित प्रकरण है, शौचालय, आवास आदि का भी निरीक्षण कर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि भूमि विवाद का निस्तारण एसडीएम तथा सीओ की संयुक्त टीम बनाकर करें। उन्होने कहा कि भूमि विवाद से संबंधित विवादों को हल करने के लिए संबंधित व्यक्तियों को थाना दिवस पर आयोजित कैम्प में बुलाकर भूमि विवाद का निस्तारण करना सुनिश्चित करें।