चौकी पर आने जाने वाले हर फरियादियों के साथ बगैर पैसे के कोई न्याय नहीं

0
163

आजमगढ़ के निजामाबाद थाना की पुलिस न्याय के मंदिर को कर रही बदनाम कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए जिले के दौरे पर आए एडीजी जोन वाराणसी से जनपद की पुलिस के अवैध वसूली के संबंध में शिकायत के बाद एडीजी जोन वाराणसी ने आदेश जारी करते हुए एक whatsapp नंबर जारी किया था लेकिन आदेश के कुछ ही दिन बाद जिले के निजामाबाद थाने के फरिहा चौकी पर तैनात सिपाही धज्जियां उड़ा रहे हैं चौकी पर आने जाने वाले हर फरियादियों के साथ बगैर पैसे के कोई न्याय नहीं करते हैं सुलहनामा पासपोर्ट शस्त्र लाइसेंस रिपोर्ट के नाम धड़ल्ले से पैसा लिया जा रहा है इसी क्रम में आज फरिहा मस्जिद के सामने एक हल्का एक्सीडेंट हो गया था दोनों लोग मुस्लिम रिस्तेदारी में थे और वहीं पर मामले का निपटारा करते हुए कोई कानूनी कार्यवाही नहीं चाहते थे परंतु एक्सीडेंट के मामले में दोनों पक्षों के सुलह के बावजूद पैसे के लिए घुमाया जा रहा था क्योंकि पीड़ित व्यक्ति बहुजन समाज पार्टी के नेता ताहिर मुन्नू समाजसेवी है मोटी रकम मिलेगी पैसा ना मिलने पर नेता के स्कॉर्पियो गाड़ी को कब्जे में लेकर फरिहा चौकी चले गए वहीं पर ताहिर मुन्नू पुलिस पर आरोप लगाया कि आज मैं पुलिस का इतना सहयोग करता हूं कि यह चौकी जो बनी है दीवाल की सफाई और जल्द ही में विद्युत वायरिंग का कार्य मैं स्वयं करवाया हूं लेकिन आज मेरे साथ चंद रुपयों के लिए मुझे चौकी से बूथ बूथ से चौकी पर लाया जा रहा है अधिकारियों व सीओ सदर मोहम्मद अकमल खान के डांट फटकार सुनने के बाद गाड़ी को छोड़ा गया है इससे पूर्व में भी कई बार अधिकारियों ने चौकी के सिपाहियों के खिलाफ कार्यवाही कर चुके हैं लेकिन पैसे के बल पर फिर वही कार्य करना शुरू कर देते हैं