पुलिस विभाग द्वारा जनता से खुले आम रूपया लेने का सिलसिला चरम पर

0
90

आपआजमगढ निजामाबाद थाना क्षेत्र के फरिहा चौकी पर पुलिस विभाग द्वारा जनता से खुले आम रूपया लेने का सिलसिला चरम पर है डायल 112 जाने और मौके पर सुलह समझौता कराने के नाम पर 1000 से 1500 रूपये फरिहा चौकी से किसी के प्रार्थना पत्र का निस्तारण के लिए जाने का पुलिस विभाग 500 से 1000 रूपया पाने पर मौका मुआयना करने जाती है रूपया न मिलने पर पुलिस विभाग नही जाता है । लाला पुत्र श्याम नाथ ग्राम फरिहा के निवासी है इनका जमीनी विवाद इनके पट्टीदार रामा कान्त पुत्र सीताराम से है जो कि विवाद महीनो से चल रहा है ।सुलह समझौता पुलिस चौकी फरिहा पर 21/12/2019, 27/12/2019 को कराया था लेकिन सुलह होने के बाद भी पुलिस के लापरवाही के कारण विवाद बरकरार है ।लाला ने पुलिस विभाग पर आरोप लगाए कि जब भी मौके पर डायल 112 जाती है तो जो पक्ष डायल 112 को बुलाता है उससे पुलिस के लोग 1000से 1500 रूपये की वसूली करके विना विवाद का निस्तारण कराये चले जाते है यदि कोई प्रार्थना पत्र फरिहा चौकी पर दिया जाता है तो फरिहा चौकी पर मौजूद सिपाही पहले 500 से1000की वसूली करते हुए मौके पर पहुंचते है और जो पक्ष रूपया दिया रहता है उसी के अनुसार कार्य करते है जिससे भूमि विवाद का निस्तारण 1 महिने के बाद भी मामला का निस्तारण नही हो पाया। हालात दिनो दिन विगड़ती चली जा रही है ।लाला ने यह भी आरोप लगाया उमाकांत आर्मी मे रहते है और कहते है कि हमारा कोई कुछ नही विगाड़ पायेगे ।लाला ने फरिहा चौकी के पुलिस अनिल सिंह के ऊपर यह भी आरोप लगाए कि लाला तुम लोगो पास रूपया और पैरवी नही इसलिए तुम लोगो की सुनवाई नही हो रही है ।लाला ने बताया कि हम लोग खेती व मजदूरी करते है इसलिए हम लोगो की सुनवाई नही हो रही है ।