फरिहा महंगाई की भेंट चढ़ा फरिहा का मेला

0
90

आजमगढ फरिहा महंगाई की भेंट चढ़ा फरिहा का मेला फरिहा का ऐतिहासिक मेला महंगाई की भेंट चढ़ गया,इस बार नहीं देखने को मिलेगा फरिहा का जोरदार बिरहा का दंगल बहुत दूर-दूर से लोग आते थे फरिहा मेला के दिन बिरहा सुनने और देखने फरिहा के पूजा पंडाल वालों ने दो हफ्ता पहले फरिहा मेले की दूरव्यवस्था व महंगाई के विषय में एसडीएम निजामाबाद को ज्ञापन दिया था जिस पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई फल स्वरुप फरिहा में मेले का बहिष्कार करने का निर्णय लिया नतीजा 6 पूजा पंडाल की जगह केवल दो जगह ही पूजा पंडाल बना है जिसमें मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा हुई है अधिकतम पूजा समिति के लोगों ने कहा कि बाजार में बिजली के पोल से तार नीचे लटक रहे हैं जिसकी वजह से मेले में बड़ा हादसा हो सकता है बाजार से पानी की समुचित निकासी की भी व्यवस्था नहीं है और महंगाई इस कदर बढ़ गई है कि समय से भोजन नसीब हो जाए वही बड़ी बात है मेला किस को अच्छा लग रहा है मेले के दिन हर वर्ष काफी खुशी देखने को मिलती थी और 3 दिन पहले से भीड़ भाड़ बढ़ जाती थी पर अब की बार आज मेले के दिन भी बाजार बिल्कुल उजड़े चमन की तरह है बाजार से रौनक बिल्कुल गायब है डीजे को लेकर भी पूजा समितियों में काफी डर बना हुआ है कि कहीं पुलिस वाले आकर के डंडा न भाजने लगे और मूर्ति विसर्जन की जो व्यवस्था की गई है वह तो बहुत ही आस्था के साथ खिलवाड़ किया गया है जिस मूर्ति की हम पूजा करते हैं प्राण प्रतिष्ठा करवाते हैं उसी को दूसरे दिन दत्तात्रेय धाम मेंछोटा सा गड्ढा खोद करके और उसमे ले जाकर के मूर्ति को तोड़ मरोड़ कर विसर्जन करना पड़ता है यह प्रशासन हमारे धर्म के प्रति खिलवाड़ कर रहा है धर्म को मजाक बनाकर रख दिया है इस अवसर पर बाल गोविंद यादव प्रदीप यादव राहुल पाठक पुंडरीक मिश्रा परमेश विश्वकर्मा अखिलेश शर्मा केसारी मोदनवाल आदि लोगों ने जमकर विरोध किया