लगातार बारिश से पूर्वान्चल में अब तक 11 लोगों की गई जान

0
31

** लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

**जौनपुर, चंदौली , वाराणसी सहित कई जिलों में कच्चे मकान गिरने से लोगों की मौत

जौनपुर :- पिछले 2 दिनों से पूर्वांचल के कई जिलों में लगातार हो रही बारिश के कारण यहां जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है लगातार बारिश के कारण चंदौली वाराणसी सहित कई जिलों से कच्चे मकानों के गिरने के कारण उसमें दबकर लोगों मरने की दुखद घटनाएं भी हो रही हैं। पुरे प्रदेश में दो दिनों से लगातार हुई बारिश के कारण अबतक जहां 16 लोगों जा चुकी है तो वहीं अकेले पूर्वाचल में मरने वालों की संख्या 11 हो गई है। गुरूवार की सुबह के बाद रात भर बारिश फिर शुक्रवार दिनभर हुई भारी बारिश से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग की मानें को शनिवार को भी तेज बारिश रहने का अनुमान है। बारिश का सबसे खतरनाक असर पूर्वाचल के जिन जिलों में रहा उसमें चंदौली, जहां तीन लोगों की जान चली गई भदोही व वाराणसी में दो-दो, आजमगढ़ व जौनपुर में एक-एक की मौत हो गई। वहीं कई जगहों पर कच्‍चे व जर्जर मकान के साथ पेड़ व बिजली खंभे व तार भी गिरने से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। चंदौली जिले अलीनगर थाना क्षेत्र में लगातार हुई बारिश के कारण मकान ढह गया। इसके मलबे में दबकर तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों में 70 वर्षीया धनेसरा देवी और उसके दो बेटे शामिल हैं। वाराणसी के चोलापुर थाना क्षेत्र के तेवर गांव में गुरुवार देर रात भारी बारिश के चलते मकान गिर गया। मकान के नीचे दबने से 60 वर्षीय रामखेलावन घायल हो गया, जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं राजापुर गांव में बारिश से दीवार गिर गई। इसकी चपेट में आने से 54 वर्षीय कांता राम की मौके पर ही मौत हो गई। तो वहीं आजमगढ़ निजामाबाद के अहरौला में पिछले 30 घंटे से हो रही लगातार बारिश के कारण कटवा गांव में एक कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया। इस दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई।
भदौही के चौरी में घर गिरने से दो लोगों की मौत हो गई। जबकि कोइरौना में पेड़ की डाली गिरने से बाइक सवार की जान चली गई। इसके साथ ही कौशांबी और प्रतापगढ़ से भी मौत की खबरें हैं जो बारिश की वजह से जर्जर मकानों के ढहने से हुई हैं। मानसून के अब जाने का समय आ गया है। लेकिन जाते-जाते इस भयंकर बारिश ने कई परिवारों की खुशियां उजाड़ दी हैं।