पूर्वाचंल की सियासत में 4 साल बाद आज़मगढ़ आने का मिला अवसर,मंगलवार को आज़मगढ़ में पहुचे असदद्दुदीन ओवैसी

0
86

फूलपुर। राजनीतिक के गलियारे में मंगलवार का दिन पूरे जिले के लिए एक शंका ,आशंका और कौतूहल का दिन रहा। मौका था मजलिस ए इत्तेहाद ए मुस्लेमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बेरिस्टर असद्दुदीन ओवैसी के ज़िले में आगमन का जिनको सपा सरकार में कई बार जिले में आने से रोका गया था। लेकिन भाजपा की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने ओवैसी को आजमगढ़ जिले में एंट्री देकर सपा सहित अन्य पार्टियों की नीदें हराम कर दीं। बाबतपुर वाराणसी के रास्ते जौनपुर,गुरेनी, खेतासरय, दीदारगंज,पल्थी, भेड़िया बाजार,अम्बारी,होते हुए माहुल नगर पंचायत स्थित पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के घर माहुल पहुँचकर भोजन कर लोगों से बारी बारी मिलें वहीं ओवैसी के काफ़िले में करीब दो हजार बाइक व कार पर सवार सैकड़ों कार्यकर्ता पूरे जोश में नज़र आए। वहीं माहुल चौक पर कोई लोगों ने अपनी बाइक बुलट के सैलेंसर कि शोर गुल से माहुल की गलियों को दहाड़ा हालांकि इस दौरे को गैर राजनीतिक प्रेजेंट करने की बात पार्टी के पदाधिकारियों कई बार कही लेकिन राजनीति में यह शब्द तब गायब हो जाता है जब समर्थकों का नारा बुलंद हो जाता है। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के आवास पर पहुँचे ओवैसी ने कहा कि हम थाली बजाकर नही बल्कि सरकारों में हिस्सेदारी ले कर रहेंगे । वहीं ओमप्रकाश राजभर की पार्टी से गठबंधन से यूपी में पार्टी को काफी मजबूती मिली है और जो लोग साथ में आना चाहे उनका भी स्वागत है। साथ ही कोरोना के वेक्सिनेशन होने के बाद अपने राजनीतिक दौरे और तेज़ करने व अगला दौरा बंगाल में चुनाव लड़ने की भी बात की। उसके बाद सरायमीर के बैतलूम अरबिया मदरसा पहुंचने पर उनका स्वागत नौजवानों ने गर्मजोशी नारे लगाते हुए कहा कौन आया शेर आया के नारे के साथ किया। जिसके बाद ओवैसी आज़मगढ़ के लिए रवाना हो गए इस दौरान तेज़ रफ़्तार बाइकर व कारों के भीड़ से रोड घण्टो जाम रहा। वही दीदारगंज,अम्बारी, माहुल , अहिरौला, फूलपुर, सरायमीर की पुलिस व पीएसी सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने में लगी रही।

Kmass news
संवाददाता फूलपुर