राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड द्वारा खरसहन खुर्द में कृषक गोष्ठी का आयोजन

0
186

आजमगढ़/दीदारगंज
विकासखंड फूलपुर के खरसहन खुर्द ग्राम सभा में नाबार्ड द्वारा कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें किसानों को विना  लागत के प्राकृतिक आध्यात्मिक खेती के विषय में उपस्थित लोगों को जानकारी दी गई इस अवसर पर प्रगतिशील कृषक महेंद्र सिंह ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि एक देसी गाय से 30 एकड़ खेती से लागत से की जा सकती है जिसके चार मुख्य आधार है  बीजामृत, जीवामृत, आच्छादन, वाफसा , देसी गाय के गोबर और मूत्र से सूखा धान जीवामृत बनाएं किसी भी फसल फल पेड़ पौधों पर दे जैविक कीटनाशक नीमास्त्र, ब्रह्मास्त्र, अग्नियास्त्र, फफूद नाशक, सोठास्त्र, दवपर्णी, अर्कदवा बनाएं बीज शोधन के लिए वीजा मृत गोबर और मूत्र से बनाएं। माहंगी खेती रासायनिक का त्याग करें और गाय के गोबर और मूत्र से अपनी एक देसी गाय से 30 एकड़ खेती विना लागत के करें। गाय के गोबर मूत्र से खेती में शुद्ध पर्यावरण होगा जल की समस्या हल होगी जल स्तर ऊपर आएगा जहर मुक्त अनाज फल फूल पैदा कीजिए अपने परिवार एवं देश को स्वस्थ बनाइए किसान भाइयों यह कार्य आप ही कर सकते हो प्रकृति ने सारे संसाधन आपको दिए हैं प्रकृति के अनुरूप ही खेती करें। प्रकृति में जो अस्तित्व में है वह प्राकृतिक है, और आध्यात्मिक है। प्रकृति की व्यवस्था है। इस अवसर पर जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड शशिकांत, स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधि आलोक सिंह, कृषक अमिता सिंह, जनार्दन निषाद, जितेंद्र सिंह, रामअवध विंद, दुर्गावती देवी, चमेली देवी आदि लोग भी उपस्थित थे।