हिंदी दिवस के अवसर पर संभ्रांत व्यक्तियों ने कवि सम्राट अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध की प्रतिमा पर माल्यार्पण

0
140

आजमगढ निजामाबाद के रानी की सराय बाईपास के 20 वर्ष पूर्व कवि सम्राट अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध की आदम कद प्रतिमा स्थापित की गयी आज 14 सितंबर को हिंदी दिवस के अवसर पर नगर के संभ्रांत व्यक्तियों ने कवि सम्राट अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध की आदम कद स्थापित प्रतिमा पर पहुंचकर माल्यार्पण कर हिंदी खड़ी बोली के महाकाव्य प्रियप्रवास को लिखने वाले खड़ी बोली के कवि रैदास उपाध्याय को याद किया मुख्य रूप से कार्यक्रम का संचालन तहसील निजामाबाद के अधिवक्ता जितेंद्र हरी पांडे द्वारा किया गया सर्वप्रथम प्रतिमा का माल्यार्पण कर नगर अध्यक्ष निजामाबाद प्रेमा यादव दी तहसील बार एसोसिएशन अध्यक्ष पूर्व अध्यक्ष रणविजय राय द्वारा प्रियप्रवास लिखने वाले खड़ी बोली के अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्हें याद किया प्रत्येक वर्ष इसी तरीके से कवि सम्राट अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें याद तो नगर के लोग कर लिया करते हैं लेकिन इस प्रतिमा की जो हालत है और हवन की जो हालत है वह देखते बनती है जिनसे हालत में बाउंड्री वाल बनी हुई है जगह-जगह बाउंड्री वाल टूट चुकी है गेट टूट चुका है यह किसी को नहीं दिखाई देता लेकिन केवल प्रत्येक हिंदी दिवस के दिन और कवि सम्राट अयोध्या सिंह उपाध्याय हरिऔध के जन्म दिवस के अवसर पर एकत्र होते हैं और लंबी लंबी बातें यहां से चले जाते हैं जबकि हिंदी दिवस प्रत्येक साल मनाया जाता है और उनका जन्म दिवस की प्रत्येक साल मनाया जाता है लेकिन किसी भी राजनीतिक दल या किसी भी संभ्रांत व्यक्ति को या नहीं दिखाई देता कि यह प्रतिमा किस स्थिति में है और यहां के आसपास की व्यवस्था कैसी है बस केवल माल्यार्पण कर दो मिनट का भाषण देकर उन्हें याद कर सभी लोग अपने घर चले जाते हैं जबकि यह नहीं होना चाहिए इस अवसर पर नगर के संभ्रांत व्यक्ति सहित अधिवक्ता गढ़ भी उपस्थित थे