गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण से पूरे क्षेत्र का होगा सर्वांगीण विकास

0
67

आजमगढ़ प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे मंे गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे को जोड़कर क्षेत्रीय विकास का जो स्वरूप दिया है उसकी सम्बन्धित जिलों सहित प्रदेश की जनता भूरि-भूरि प्रशंसा कर रही है। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे से लाभान्वित जनपद गोरखपुर, अम्बेडकरनगर, संतकबीर नगर, आजमगढ़, सहित क्षेत्रीय निवासियों को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के माध्यम से सीधे लखनऊ, आगरा एवं दिल्ली तक त्वरित एवं सुगम यातायात काॅरिडोर से जुड़ेंगे और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। इस लिंक एक्सप्रेस-वे में प्रवेश नियन्त्रित होने सेे वाहनों के ईधन की खपत में बचत के साथ-साथ समय की भी बचत होगी। वाहनों के चलने से उत्पन्न धुएं से होने वाले प्रदूषण पर भी नियन्त्रण सम्भव हो सकेगा। यह एक्सप्रेस-वे जिन जिलों केे क्षेत्रों से निकल रहा है उन क्षेत्रों में सामाजिक विकास के साथ-साथ आर्थिक विकास को भी मजबूती मिलेगी।
क्षेत्रीय विकास को मजबूती प्रदान करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे को बनवाकर चतुर्दिक विकास की जो गति प्रदान की है, वास्तव में क्षेत्र की जनता उनकी ऋणी रहेगी। एक्सप्रेस-वे के बनने से किसानों को बहुत फायदा होगा। किसान अपने कृषि उत्पादों को प्रदेश के जिलों व अन्य प्रदेशों में त्वरित गति से सुगमता एवं समय से विक्रय कर सकेंगे। एक्सप्रेस-वे के आस-पास क्षेत्रों में वाणिज्यिक गतिविधियां बढ़ेंगी साथ ही उद्योगों की स्थापना होगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। यह एक्सप्रेस-वे औद्योगिक काॅरिडोर के रूप में विकसित होगा। क्षेत्रों मेें स्थापित उत्पादक इकाईयों के उत्पाद देश के विभिन्न क्षेत्रों में सुगमता एवं शीघ्रता से पहुंच सकेंगे। विभिन्न खाद्य प्रसंस्करण के उद्योगों की स्थापित इकाईयों में निर्मित खाद्य पदार्थ दुग्ध उत्पाद एवं अन्य ऐसी सामग्रियां जो शीघ्र खराब हो जाती हैं, भी कम समय में आसानी से अपने गन्तव्य स्थलों पर पहुंचाने में सहायता मिलेगी। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निकट विभिन्न इण्डस्ट्रीयल ट्रेंनिग इन्स्टीट्यूट, शिक्षण संस्थाएं इंजीनियरिंग व मेडिकल संस्थान एवं अन्य तकनीकी शिक्षण संस्थान खुलेंगे, जिसमें क्षेत्रीय छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा और वे देश की प्रगति में भागीदार होंगे।
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे प्रवेश नियन्त्रित परियोजना (ग्रीनफील्ड) जनपद गोरखपुर बाईपास एन.एच.27 के ग्राम जैतपुर के पास से शुरू होकर गोरखपुर, अम्बेडकरनगर, संतकबीर नगर होते हुए जनपद आजमगढ़ के ग्राम सलारपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे में मिल जाता है। यह एक्सप्रेस-वे 04 लेन चैड़ा (06 लेन में विस्तारणीय है) तथा इसकी संरचना 06 लेन चैड़ाई की बनायी जा रही है। एक्सप्रेस-वे के एक ओर पौने चार मीटर की सर्विस रोड भी बनायी जा रही है, जिससे आस-पास के गा्रमीण क्षेत्रों के निवासियों को आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके। यह लिंक एक्सप्रेस-वे अपनी विशाल संरचना निर्माण के लिए भी जाना जा रहा है। इसके निर्माण में 02 टोल प्लाजा, 03 रैम्प प्लाजा, 07 फ्लाईओवर, 16 ब्हेकुलर, अण्डरपास, 50 लाईट ब्हेकुलर अण्डरपास, 35 पेडेस्ट्रियन अण्डरपास, 07 दीर्घ सेतु, 27 लघु सेतु तथा 389 पुलिया का निर्माण किया जा रहा है। इस पूरे एक्सप्रेस-वे की लम्बाई 92 किमी है। इसके निर्माण में विभिन्न जनपदों में बहने वाली नदियां यथा- आमी, कुवानों, घाघरा और टांस है जिन पर पुलों का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए भूमि का अधिग्रहण करते हुए किसानों, भूमिधरों को भूमि का भुगतान किया जा चुका है। इसके निर्माण के लिए कोविड लाॅकडाउन के दौरान भी कार्य चलता रहा है। निर्माण कार्य में 02 हजार से अधिक श्रमिक सैकड़ों तकनीकी स्टाफ व सैकड़ों मशीनें लगाकर तेजी से निर्माण कार्य कराया जा रहा है। इस लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण हो जाने से निश्चय ही पूर्वांचल क्षेत्र का विकास बहुत तेजी के साथ होगा और क्षेत्रवासियों की आर्थिक प्रगति में बढोत्तरी होगी।