1 सितम्बर को लेखपाल को गोली मारने वाला बदमाश गिरफ्तार

0
272

थाना गंभीरपुर/आजमगढ़ आशनाई में लेखपाल को मारी गई थी गोली।गंभीरपुर थाना क्षेत्र के रोहुआ मुस्तफाबाद के समीप बीते 1 सितंबर को लेखपाल अतुल यादव को गोली मार दी गई थी, उस मामले में गंभीरपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी। उक्त प्रकरण में एक आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने पूरे मामले का पर्दाफाश कर दिया। मामला आशनाई से जुड़ा हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार गंभीरपुर पुलिस को मंगलवार 8 सितंबर को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि लेखपाल गोलीकांड का वांछित मुहम्मदपुर फरिहा मार्ग तिराहे पर स्थित सैनिक ढाबा के सामने खड़ा है और कहीं जाने की फिराक में है। सूचना पाते ही पुलिस एक्शन में आ गई और मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान पर जैसे ही पहुंची वैसे ही आरोपी भागने लगा। लेकिन पुलिस ने उसे दबोच लिया पकड़ा गया वांछित वीर प्रताप चौहान पुत्र यशवंत चौहान शाहगढ़ थाना गंभीरपुर जिला आजमगढ़ का रहने वाला है। उसके पास से पुलिस ने एक टीवीएस अपाचे गाड़ी एक अदद पिस्टल व दो जिंदा कारतूस बरामद किया।घटना के बाबत वीर प्रताप चौहान ने बताया कि वह एक लड़की से बीते चार-पांच सालों से प्रेम करता था और उसी लड़की से निजामाबाद तहसील में कार्यरत लेखपाल अतुल यादव भी बात करने लगा था उसने लेखपाल को उक्त लड़की से बात ना करने की हिदायत भी दी थी, फिर भी लेखपाल अतुल यादव ने उस लड़की से बात करना बंद नहीं किया और वह लड़की भी धीरे-धीरे वीर प्रताप चौहान से दूर होती गई उसने इस बात को अपने दोस्त सूरज गौड़ पुत्र दिनेश गौड़ निवासी खूरसू खास थाना देवगांव से बताया सूरज ने दोस्ती के खातिर वीर प्रताप का साथ देने के लिए तैयार हो गया और अतुल यादव को रास्ते से हटाने की वे दोनों योजना बनाने लगे दिनांक 1 सितंबर को सूरज गौड़ ने किसी और मित्र युवक को फोन करके बिंद्रा बाजार बुला लिया,जिसे वीर प्रताप चौहान नहीं पहचानता था वह तीनों बिंद्रा बाजार से अपाचे मोटरसाइकिल पर एक साथ बैठकर लेखपाल की बाइक का पीछा करने लगे पीछा करते-करते ज्योही एकांत में रोहुआ मुस्तफाबाद के पास पहुंचे, वहीं पर वीर प्रताप के ललकारने पर सूरज गौड़ ने लेखपाल को पेट में गोली मार दी जिससे लेखपाल वही बगल में गिर गया गोली मारने के बाद फिर वापस गाड़ी मोड़ कर उक्त तीनों आरोपी आजमगढ़ की तरफ फरार हो गए पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी को सुसंगत धाराओं में जेल भेज दिया।गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में इंस्पेक्टर राकेश कुमार एसएसआई अभिषेक कुमार सिंह नफीस अहमद सिद्दीकी अजीत कुमार यादव नौशाद अहमद पंकज कुमार राजेश यादव।