अंधविश्वास एवं पाखंड का बहिष्कार, शिक्षा से भारत देश का विकास

0
301

निजामाबाद (आजमगढ) :- गोसाई कि बाजार में भारतीय शुद्र संघ की आज मीटिंग की गई मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे राजेंद्र प्रताप यादव ने कहा कि जिस तरह हमारे देश में 33 करोड़ देवी होने के बाद इस देश की आर्थिक व्यवस्था काफी कमजोर दिखाई दे रही है और यहां पर कुछ मनुवादी व्यवस्था भी लागू है जिसमें लोग जकड़े हुए हैं और देश को विकास की गति को काफी धीमी करके रखे हुए हैं जैसे कई जातियों में बांट देना कई धर्मों में बांटना इससे हमारे देश का भला नहीं होने वाला भारतीय सूत्र संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र यादव ने कहा कि हमारे देश के पढ़े लिखे लोग आज जिस तरह अनपढ़ की व्यवस्था को अपना रहे इससे भला नहीं होने वाला हमें हमारे पूर्वज एक ऐसी भारत का संविधान दिए जिससे पूरे भारत स्वतंत्रता समानता का अधिकार सबके पास है उसके बावजूद भी लोग आज मानसिक गुलाम बने बैठे हैं हमें तो अपनी इतिहास के बारे में जानना चाहिए जिस तरह हमारे महापुरुष ज्योतिबा राव फूले सावित्रीबाई फुले छत्रपति शाहूजी महाराज डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ललई यादव जैसे महान पुरुष ने एकत्रित होकर इस देश की बीड़ा को उठाया और कामयाबी की जगह लाकर रखा आज इस देश की शासन उसे संभालने में आज बिफल दिखाई दे रही है वहां पर उपस्थित समाजसेवी कमला सिंह तरकस भी मौजूद रहे उन्होंने कहा आज हमारे देश में रोग जाति धर्म की नाम पर ही एक दूसरे को चूर चूर करना चाहते हैं लेकिन धन्य हो हमारे भगवान गौतम बुद्ध व बाबासाहेब जिन्होंने बुद्धि और कलम की ताकत से हमें और आपको इस तरह जीने का अधिकार दिया और एक साथ एकत्रित होकर समाज की सेवा कर रहे हैं वहां पर उपस्थित समाजसेवी संध्या सिंह ने कहा कि हम जैसे महिला को ना तो समाज में बैठने का अधिकार था ना तो बोलने का और ना ही शिक्षा का अधिकार धन्य है सावित्रीबाई फुले की उन्होंने महिलाओं को शिक्षा का अधिकार दिया समानता का दर्जा दिया जिससे हम महिलाएं आज दिन पर दिन तरक्की कर रहे हैं और ऐसे महापुरुष को हम बहुत-बहुत आभार प्रकट करते हैं वहां पर उपस्थित लालता प्रसाद यादव मंगेश भारती आचार रामधनी बौद्ध जी अशोक कुमार बौद्ध जंग बहादुर यादव नीतीश कुमार आदि लोग उपस्थित रहे