कड़ी सुरक्षा के बीच दसवीं मोहर्रम हुआ सम्पन्न

0
129

**आसूओं के साथ सभी ताजिये कर्बला में हुये सुपुर्द-ए-खाक |

खेतासराय(जौनपुर) 10 सितम्बर:-आज इमाम हुसैन रजिअल्लहाताला की शहादत का दिन है। जिससे मुस्लिम समाज़ गम में डूबा हुआ है। वैसे तो मुहर्रम इस्‍लामी कैलेंडर का पहला महीना है और इससे इस्‍लाम धर्म के नए साल की शुरुआत भी होती है। लेकिन 10वें मुहर्रम को हजरत इमाम हुसैन की याद में मुसलमान मातम मनाते हैं। मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए यह पूरा महीना ही बहुत पाक और गम का महीना होता है। 10वें दिन जिसे यौमे – ए – आशूरा कहते है। सबसे अहम दिन होता है। 1400 साल पहले मुहर्रम के महीने की 10वीं तारीख को ही इमाम हुसैन को शहीद किया गया था। उसी गम में मुस्लिम समुदाय के लोग मुहर्रम की 10वीं तारीख को ताज़िये के साथ जुलूस निकालते है। जिसमें स्थानीय कस्बा खेतासराय में सुन्नी समुदाय द्वारा ताज़िये के साथ भी जुलूस निकाला जाता है। इस दौरान जुलूस में आगे – आगे अखाड़े के फनकार कलाकार करतब दिखाते चलते रहते है। और देर शाम जुलूस कर्बला पहुँच कर अकीदत और गम के मौहाल में ताज़िया दफन कर दिया जाता है। इस दौरान सुरक्षा की दृष्टि से चप्पे – चप्पे पर भारी मात्रा में पुलिस बल मौजूद रही।

कर्बला में अपनी अज़ीम कुर्बानी पेश करके सम्पूर्ण मानव जाति के स्वाभिमान, इंसानियत एंव मानवता के वजूद को हमेशा – हमेशा के लिए महफूज़ करने वाले हजरत इमाम हुसैन की याद में स्थानीय कस्बा खेतासराय में मंगलवार को गम के माहौल में सुबह कस्बा के दर्जनों चौक पर रखे गए ताज़िये के साथ कस्बा के उत्तरी छोर पर स्थित फ़ातिमान गेट पर लगभग देर दोपहर तक पहुँचे। वहां फातिहा पढ़ने के बाद जुलूस कस्बा के मुख्य मार्ग शाहगंज – जौनपुर से होते हुए कर्बला के लिए रवाना हुए। इस दौरान जुलूस धीरे – धीरे आगे बढ़ता रहा। जुलूस के आगे – आगे अखाड़ा रौनक-ए-इस्लाम और अखाड़ा भुलई शाह के फनकार कलाकार एक से बढ़कर एक करतब दिखाते हुए चल रहे थे। इन दौरान विभिन्न क्षेत्रों से आये मुस्लिम समुदाय के लोग गम में डूबे रहे और उनकी शहादत को याद करते रहे। देर शाम खेतासराय – खुटहन मुख्य के लगे सम्पर्क मार्ग पर स्थित इमामबाड़ा में हम आखों से ताज़िया दफन कर दिया गया।

इस दौरान क्षेत्र अति संवेदनशील होने के कारण पुलिस जुलूस को सकुशल शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने के लिए थानाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह ने पहले से सीमा – रेखा तैयार कर लिया था। ताकि कही से किसी प्रकार से ज़रा भी चूक न हो सके। चप्पे – चप्पे पर पुलिस मौजूद रही। जुलूस को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए 5 थानाध्यक्ष, 2 सेक्शन पी0ए0सी0 150 कास्टेबल, 50 होमगार्ड के अलावा सी0ओ0 शाहगंज अजय श्रीवास्तव व शाहगंज एसडीएम राकेश वर्मा बीडीओ अनुराग राय सरफ़राज़ अहमद महमूद खान मो0 असलम थानाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह मय फोर्स उपस्थित रहे।।।