प्रयागराज/बहुत हो गई मन की बात अब नहीं सहेंगे अत्याचार

0
62

प्रयागराज मेजा से खास रिपोर्ट रात्रि के 9 बज कर 9 मिनट पर 9 मिनट के लिए देश के सभी नौजवानों ने दीपक मोमबत्ती टॉर्च मोबाइल फ्लैश लालटेन आदि जलाकर सोई हुई सरकार को रोजगार के लिए जगाने का कार्य किया

देश के युवाओं को रोजगार के लिए राष्ट्रीय भागीदारी पार्टी पी के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव एवं पूर्व सदस्य पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम डॉक्टर महेश चंद्र प्रजापति ने कहा कि देश के युवाओं ने एक नई क्रांति की शुरुआत कर दी देश को आजाद हुए 74 वर्ष हो गए लेकिन आजादी के 74 वर्ष बाद कभी भी ऐसा दिन देखने को नहीं मिला कि रोजगार के लिए देश के युवाओं को सड़कों पर उतर कर रोजगार के लिए स्वयं लड़ना पड़ रहा है देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा था की 1 वर्ष में दो करोड़ लोगों को रोजगार देने का कार्य करेंगे लेकिन 1 वर्ष में चार करोड़ लोगों को बेरोजगार करने का कार्य किए हैं इस कोरोना जैसी महामारी में देश का हर दूसरा व्यक्ति बेरोजगार है मन की बात में देश के प्रधानमंत्री कभी भी रोजगार की बात नहीं करते देश की अर्थव्यवस्था की बात नहीं करते देश की जीडीपी की बात नहीं करते बल्कि चाय बेचो पकौड़ा बेचो जलेबी बेचो आत्मनिर्भर बनो आदि की सलाह देते हैं लेकिन शिक्षा की बात नहीं करते सूबे के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा था कि प्रदेश में रोजगार की कमी नहीं है लेकिन पढ़े-लिखे नौजवान साथी नहीं मिल रहे हैं सर मैं आती है ऐसी निकम्मी सरकार पर जिस प्रदेश में करोड़ों की संख्या में पढ़े लिखे नौजवान साथी रोजगार के लिए दर-दर भटक रहे हैं फोर्थ क्लास की नौकरी के लिए पीएचडी धारक बीटेक एमटेक के छात्र आवेदन करते हैं और प्रदेश के मुख्यमंत्री जी कह रहे हैं की योग्य छात्र नहीं मिल रहे हैं यह कैसी सरकार है जो देश के करोड़ों युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का कार्य कर रहे हैं केंद्र सरकार की 92 विभाग में से 52 विभाग देश के प्रधानमंत्री निजी करण कर चुके हैं अभी और विभाग निजी करण करने की तैयारी में है

श्री प्रजापति ने अपने घर की बालकनी में मोमबत्ती जलाकर इस सोई हुई निकम्मी सरकार को प्रकाश दिखाने का कार्य किया है यदि अभी भी सरकार नहीं जागी तो देश में जन आंदोलन के साथ एक नई क्रांति की शुरुआत होगी जिसमें भागीदारी संकल्प मोर्चा का एक-एक पदाधिकारी सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होगा आज प्रदेश में लूट हत्या बलात्कार जैसी घटनाएं आम हो गई हैं अब उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश नहीं रहा बल्कि हत्या प्रदेश हो गया है पिछड़े दलित अल्पसंख्यक के साथ जिस प्रकार से इस सरकार में जुल्म ज्यादती हो रही है पूर्ववर्ती सरकार ने इतना ज्यादा देखने को नहीं मिला था देश के प्रधानमंत्री ने कोरोनावायरस बिना किसी योजना के लॉक डाउन कर देश की जनता को मरने के लिए सड़कों पर छोड़ दिया ऐसी हिटलर शाही सरकार आजादी के 74 साल बाद पहली बार देखने को मिला अब देश का नौजवान साथी जा चुका है बहुत हो गया अब केवल रोजगार चाहिए आज जिस प्रकार से महंगाई चरम उत्कर्ष पर है गरीबों का जीना दूभर हो गया है देश के प्रधानमंत्री मोर और हिरण को घर में चारा खिलाने का कार्य कर रहे हैं लेकिन गरीबों को मारने के लिए सड़कों पर छोड़ दिया गया इस लाख डाउन में जिस प्रकार से बिजली का बिल वसूला जा रहा है स्कूलों में फीस माफ करने का कार्य नहीं किया जा रहा है लिए गए लोन की यमाई भरने को मजबूर किया जा रहा है गरीबों के पास रोजगार नहीं है नौकरी नहीं है जिनकी नौकरी छूट गई है वह अपने बच्चों को शिक्षा कैसे दे पाएंगे बड़े-बड़े और झूठे वादे करने वाली यह झूठी सरकार कोरोना के नाम पर केवल देश की जनता को लूटने का कार्य किया गया है

संवाददाता पंकज प्रजापति
के मास न्यूज़।