तीन साल से गिट्टी डालकर छोड़ दिया, रास्ता बदलने को मजबूर ग्रामीण

0
68

आजमगढ रानी की सराय फरिहा क्षेत्र तीन साल सड़क पर गिट्टी डालकर छोड़ देने के चलते ग्रामीणों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा सांसद से भी की जा चुकी थी बावजूद इसके विभाग की अनदेखी के चलते ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

निज़ामाबादनिज़ा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय अनढोरी के पास से गांव की दलित बस्ती होते हुए मैन पार पुर गंध हुई कटाई ईश्वरपुर गांव को जोड़ने वाली सड़क का निर्माण सपा सरकार में शुरू हुआ था। सड़क पर गिट्टी डालने का काम भी लगभग पूरा हो चुका था। इस बीच विधानसभा चुनाव होने लगे। नई सरकार बनने के दो साल पूरे होने के बाद भी आज तज सड़क की हाल जस की तस बनी हुई है। सड़क पर डाली गई बड़ी बड़ी गिट्टियां ग्रामीणों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई हैं। आये दिन लोग साइकिल और दो पहिया वाहन लेकर सड़क पर गिरकर घायल हो रहे हैं। जिसके चलते ग्रामीणों का रास्ता बदलकर आना जाना पड़ रहा है। विगत दो साल में गांव में सांसद नीलम सोनकर गांव में पहुचे थे। ग्रामीणों द्वारा लिखित रूप से इसकी शिकायत की गई थी। सांसद ने सड़क के शीघ्र निर्माण का वादा भी ग्रामीणों से किया गया था। लेकिन आज तक सड़क का निर्माण शुरू नहीं हो सका। गांव के रविन्द्र यादव, रामचन्द्र यादव, अच्छेलाल, भोला, बलबीर सिंह, बाबूराम यादव, सहाबुद्दीन अहमद, वसीम अहमद आदि का कहना है कि जनप्रतिनिधियों और विभागीय उदासीनता के चलते सड़क का निर्माण तीन साल बाद भी नहीं हो सका ।
इस संबंध में ए इ का कहना है कि इस मार्ग का निर्माण व्यापार एवं विकास निधि से कराया जा रहा था। 40 प्रतिशत धन का एलाटमेंट हो गया है। सीसीएल अभी नहीं आई है। लोगों के पहले की बिल पेंडिंग है। उसके भुगतान के बाद काम शुरू होगा। समुचित रोड ना होने से लोगों में आक्रोश