मौर्य दंपति की हत्या के बाद परिजनों से मिलीं पूर्व सांसद

0
17

आजमगढ़ फूलपुर अहरौला क्षेत्र के पारा गांव में मौर्य दंपत्ति के हत्या के बाद मुलाकात करने पहुंची भाजपा नेता नीलम सोनकर ने कहा- डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने गंभीरता से लिया है मामला, नही बक्शे जाएंगे। भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष और लालगंज की पूर्व सांसद नीलम सोनकर ने मौर्या दंपति की मर्डर हिस्ट्री की मृतक इंद्रपाल मौर्या के भाई विजयपाल से पूरी जानकारी ली। मृतक दंपति के पुत्र शिवांश पुत्री प्रिया और खुशी से भी घटनाक्रम के बारे पूछा। साथ ही शासन से हर संभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया ।

मृतक इंद्रपाल के भाई विजय पाल मौर्या ने बताया कि अगर घटना के समय ही अहरौला थाना के तत्कालीन इंचार्ज मामले को गंभीरता से लिए होते तो आज इस तरह की घटना घटित नहीं होती। घटना को संज्ञान लेने की बात तो दूर 16 जून को जब हम लोग थाने पर मामले में कार्रवाई की जानकारी लेने पहुंचे थे , तो हम लोगों को थानाध्यक्ष ने थाने में अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए भगा दिया । यहां तक कि रिश्तेदारों के साथ अभद्रता पूर्ण व्यवहार थानाध्यक्ष अहरौला द्वारा किया गया । इसके आधे घंटे बाद पता चला कि जनता इंटर अंबारी के एक स्कूल के सामने खाई में पूर्व प्रधान इन्द्रपाल मौर्य और शकुंतला मौर्या का शव हत्या कर फेंका गया था ।
परिजनों की बातों को गंभीरता से सुनने के बाद उनको साहस देते हुए पूर्व सांसद नीलम सोनकर ने कहा कि मामले को डिप्टी सीएम केशव मौर्या ने खुद गंभीरता से लिया है , और मामले में कोई भी दोषी बचेगा नहीं। क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्राथमिकता है कि कोई भी अपराधी कानून से बचना नहीं चाहिए । निर्दोष फंसना नहीं चाहिए फिर अगर तत्कालीन थानाध्यक्ष द्वारा लापरवाही की गई है , तो जिले के आला अधिकारियों सहित प्रदेश के भी आला अधिकारियों से मिलकर इसकी शिकायत की जाएगी।
इस मौके पर गांव के प्रधान बृजेश मौर्या, प्रमोद सोनकर, राम मूरत यादव, हीरा मिश्रा, प्रेम सागर मोदनवाल, सूबेदार गिरी, सिद्धार्थ सिंह हैप्पी, बृजेश सिंह, आदि लोग मौजूद रहे।