मुहर्रम पर्व पर मातमी जुलूस के साथ ताजिया विसर्जन शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण  ढंग से हुआ संपन्न

0
126

केमास न्यूज़ :आजमगढ/निज़ामाबाद ,फतनपुर ,बिंद्रा बाजार स्थानीय थाना क्षेत्र के विभिन्न गांवो में मुहर्रम त्यौहार पर शिया मुसलमान हजरत इमाम हुसैन की इराक करबला में हुई शहादत की याद में मातम मनाया गयाऔर मातमी जुलूस ताजिए निकाले शिया समुदाय के मुस्लिम मातमी जुलूस में शामिल होकर त्यौहार को शांतिपूर्ण व सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाए।मोहर्रम माह के दशवे चांद पर क्षेत्र में पिछले 9 दिन पहले से स्थापित किए गए ताजियो को दसवें दिन अनेक विभिन्न तालाबों में ठंडा किया गया। कर्बला में शहीदों की याद में मुहर्रम पर्व पर भव्य ताजिया के जुलूस निकाले गए।लगभग 1400 वर्ष पहले पैगंबर साहब के नवासे हजरत इमाम हुसैन ने करबला शरीफ में अत्याचार एवं आतंकवाद के खिलाफ सभी धर्म के लोगों के लिए जंग लड़ी थी।इंसानियत के लिए लड़ी गई इस जंग में शहीद हुए।इस घटना को याद करते हुए मुहर्रम में आज तक ताजिए स्थापित किए जाते हैं। मुहर्रम की दसवीं चांद पर जुलूस निकालकर कर्बला के मैदान में ठंडी किए जाते हैं।स्थानीय थाना क्षेत्र के निज़ामाबाद फतनपुर कलंदरपुर,लहबरिया, अलीपुर, सर सेना, पुरवा,अमौड़ा,ऊबारपुर,गंगापुर बनावे, इत्यादि  गांवो में ताजिए के  मातमी जुलूस निकाले गए। या हुसैन या हुसैन के नारों के साथ विभिन्न तालाबों में ठंडे किए गए।इस मौके पर स्थानीय थाना प्रभारी प्रशासन से काफी संख्या में  फोर्स मंगवा कर  हर  ताजिए  के बैठा है जगह पर  तैनात किया गया था  जिसमें अपने क्षेत्र के थाना  प्रभारी निरीक्षक द्वारा  हर जगह पर चक्कर  लगाकर  स्थित का जायजा ले रहे थे