गुवाई ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत अधिकारी आमने-सामने

0
101

फूलपुर /आजमगढ़/ : फूलपुर ब्लाक क्षेत्र के गुवाई ग्राम प्रधान महेन्द्र मौर्या और ग्राम पंचायत अधिकारी आमने-सामने आ गए हैं। बुधवार को खंड विकास अधिकारी के यहां दोनों पक्षों ने अपनी बात रखी लेकिन समझौता नहीं हो सका। उसके बाद ग्राम पंचायत अधिकारी ने कोतवाली पहुंचकर तहरीर दी।आरोप है की प्रधान पक्ष के लोग मंगलवार की शाम ब्लाक मुख्यालय पहुंचकर ग्राम पंचायत अधिकारी अरविद यादव से परिवार रजिस्टर में नाम संशोधन की बात करने लगे। ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा साक्ष्य मांगे जाने पर प्रधान और समर्थकों द्वारा गाली-गलौज व रजिस्टर छीनने तथा जान मारने की धमकी दी जाने लगी। ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा शोर मचाने पर ब्लाक पर उपस्थित प्रधान और अन्य कर्मचारियों ने बीच-बचाव कर मामला शांत करवाया।इस मामले को लेकर ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारी ने बैठक के बाद बीडीओ सर्वेश मोहन श्रीवास्तव को प्रार्थना पत्र दिया। बीडीओ ने समझौता कराने का प्रयास किया पर सफलता नहीं मिली। उसके बाद ग्राम पंचायत अधिकारियों का समूह ग्राम पंचायत अधिकारी अरविद के साथ कोतवाली पहुंचकर प्रधान और उनके समर्थकों के खिलाफ लिखित तहरीर दी।सइंस्पेक्टर राम नरेश जायसवाल ने बताया कि तहरीर मिली है लेकिन जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।उधर ग्राम पंचायत अधिकारी राधेश्याम की अध्यक्षता में बैठक कर सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि कोई भी ग्राम पंचायत अधिकारी गुवाई गांव का प्रभार नहीं लेगा, क्योंकि साढ़े चार वर्ष में पांच ग्राम पंचायत अधिकारियों नियुक्ति हुई लेकिन प्रधान से किसी न किसी कारण विवाद होता रहा। छठें ग्राम पंचायत अधिकारी अरविद यादव की नियुक्ति के बाद भी वही स्थिति पैदा की जा रही है। दूसरीओर प्रधान ने ग्राम पंचायत अधिकारी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए ग्रामीण के साथ ब्लाक मुख्यालय पर कालीन बिछाकर बैठ गए और बीडीओ के यहां पहुंचकर ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा भुगतान न कराने की शिकायत करने के साथ उन्हें हटाने की मांग करने लगे।