मां बहन संग इच्छा मृत्यु की मांग लेकर धरने पर बैठा दिव्यांग

0
36

**न्याय न मिलने पर पीड़ित उपजिलाधिकारी केराकत से मांग रहा है इच्छामृत्यु का आदेश।

केराकत(जौनपुर) । तहसील के बहिरी गांव निवासी एक दिव्यांग अपनी मां और बहन के साथ धरने पर बैठकर इच्छामृत्यु की मांग कर रहा है। वहीं तहसील प्रशासन का कहना है कि उनका भूमि विवाद का मामला है, यह लोग चाहते है कि प्रशासन किसी दूसरे का घर तोड़कर इनको‌ कब्जा दिलाए।
बहिरी गांव निवासी मनोज कुमार निषाद के पिता की मृत्यु हो‌ चुकी है, उसके पिता तीन भाई थे। पिता की मृत्यु के बाद माता ने दूसरी शादी‌ कर ली। वहीं जमीन पर अन्य दो भाई काबिज हो‌ गये। मनोज के‌ दादा के रहते ही जमीन का बंटवारा हो चुका था, लेकिन पिछले 11 वर्षों से यह लोग उस बटवारे को गलत ठहरा करा अपनर मनमाफित हिस्सा मांग रहे है, जो‌ भाई सड़क पर काबिज है उसका मड़हा गिराकर हिस्सा मांग रहे है। इनका आरोप है कि हिस्सा मांगने पर पट्टीदार लोग मारपीट के भगा दे रहे है। बुधवार को उपजिलाधिकारी माज अख्तर मौके का निरीक्षण करने गये थे और इन लोगों को समझाया लेकिन यह लोग बात नहीं माने फिर गुरूवार को मनोज अपनी मां और बहन के साथ आकर उपजिलाधिकारी कार्यालय के सामने इच्छामृत्यु की मांग लेकर धरने पर बैठ गए हैं। इस संदर्भ में पूछने पर उपजिलाधिकारी माज अख्तर ने बताया कि उनके पूर्वजों ने विवाद से बचाने के लिए अपने जीते जी जमीन का बंटवारा का बंटवारा कर दिया था‌। अब यह लोग मुख्य सड़क पर काबिज दूसरे का घर तोड़कर अपने मनमाफित कब्जा चाहते है, और प्रशासन पर दबाव बनाकर अपना काम करवाना चाहते है। प्रशासन किसी की भूमिधरी से उसे बेदखल कर दूसरे को कब्जा नहीं दिला सकता है।

रिपोर्टर राजेश कुमार गुप्ता चन्दवक जौनपुर