मुहम्‍मदपुर(आजमगढ़): पुरानी रंजिस को लेकर बाजार में ही भिडे़ उलेमा कौंसिल के जिलाध्‍यक्ष, दोनों पक्षो में जमकर मारपीट-

0
91

आजमगढ़ के मुहम्मदपुर बाजार में शुक्रवार की सुबह रंजिश में उलेमा कौंसिल के जिलाध्यक्ष हाजी शकील अहमद समेत दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। सूचना मिलने पर गंभीरपुर पुलिस मौके पर पहुंच गई और उलेमा नेता सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया, बाकी लोग फरार हो गए। गिरफ्तार आरोपियों का चालान कर दिया गया है।

आजमगढ़ के मुहम्मदपुर बाजार में शुक्रवार की सुबह रंजिश में उलेमा कौंसिल के जिलाध्यक्ष हाजी शकील अहमद समेत दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। सूचना मिलने पर गंभीरपुर पुलिस मौके पर पहुंच गई और उलेमा नेता सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया, बाकी लोग फरार हो गए। गिरफ्तार आरोपियों का चालान कर दिया गया है।

हाजी शकील अहमद और उनके पड़ोसी मिर्जा इश्तियाक के बीच वर्चस्व की लड़ाई और रंजिश है। इसे लेकर पहले भी मारपीट हो चुकी है। एसओ गंभीरपुर अरविंद पांडेय ने बताया कि तीन दिन पहले दोनों पक्षों में विवाद हुआ था लेकिन मामला शांत हो गया। उसी रंजिश के चलते 16 मई की रात को फिर से मारपीट हुई।

मामला थाने पहुंचा तो दोनों पक्षों को बुलाया गया। इसी बीच शुक्रवार की तड़के सुबह फिर से दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। इस दौरान इनके समर्थक भी मौजूद रहे। इस दौरान दोनों पक्षों में बीच सड़क पर मारपीट और हंगामा होने से बाजार में दहशत फैल गई। पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

इसमें उलेमा जिलाध्यक्ष मुहम्मदपुर बाजार निवासी हाजी शकील अहमद, उनका बेटा हबीब और भतीजा फरहान है। दूसरे पक्ष से मिर्जा इश्तियाक और उनका भतीजा उस्मान शामिल है। मामले में एक पक्ष से हाजी शकील अहमद सहित 21 लोगों को नामजद और मिर्जा इश्तियाक के पक्ष के 20 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है।