महाराष्ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फडणवीस का थप्पड़ विवाद पर तंज ‘सइया भये कोतवाल तो अब डर काहे का’

0
58

मुंबई :महाराष्ट्र में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के थप्पड़ वाले बयान को लेकर हंगामा जारी है और अब इसे लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है. शिवसेना और भाजपा के बीच सीएम उद्धव ठाकरे को लेकर दिए गए नारायण राणे के आपत्तिजनक बयान के बाद अब भाजपा नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार पर तंज कसा है और कहा है कि यह राज्य प्रायोजित हिंसा है. यह ‘पुलिस जीवी’ सरकार है.उद्धव ठाकरे के खिलाफ केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की टिप्पणी को लेकर मुंबई में शिवसेना-भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प पर भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस हिंदी में एक कहावत है – “सइयां भये कोतवाल तो डर काहे का”

फडणवीस ने कहा-शरजील उस्मानी की गिरफ्तारी नहीं, राणे के खिलाफ एफआईआर

फडणवीस ने कहा कि हम नारायण राणे के उस बयान (उद्धव ठाकरे के खिलाफ बयान) का समर्थन नहीं करते हैं, लेकिन मैं, एक व्यक्ति और पार्टी के रूप में उनके साथ खड़ा हूं. उन्होंने कहा कि शरजील उस्मानी ने भारत माता को गाली दी लेकिन उनके खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई लेकिन आपने (राज्य सरकार) ने नारायण राणे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर दी.

राणे की गिरफ्तारी की हो रही मांग

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे द्वारा महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने वाले बयान को लेकर मुंबई -नासिक सहित कई जगहों पर भाजपा और शिवसेना के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. पुलिस ने दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं को बमुश्किल काबू में किया. जानकारी के मुताबिक नासिक पुलिस नारायण राणे की गिरफ्तारी के लिए निकल गई है. शिवसेना के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए हैं और राणे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

कोर्ट ने खारिज की राणे की जमानत याचिका

उधर, केंद्रीय मंत्री नारायण राणे द्वारा रत्नागिरी कोर्ट में दायर की गई अग्रिम जमानत की याचिका अदालत द्वारा खारिज कर दी गई है. नासिक पुलिस कमिश्नर दीपक पांडे का कहना है कि उनकी टीम दो घंटे में चिपलून तक पहुंचेगी. उन्होंने एसपी रत्नागिरी को निर्देश दिया है कि नारायण राणे को कस्टडी में लिया जाए.