अगर डा0 भीम राव अम्बेडकर नहीं होते हैं तो हमारा भारत देश आजाद नहीं होता

0
92

निजामाबाद जिला आजमगढ़ आज संविधान दिवस के दिन रामदेव इंस्टिट्यूट एजुकेशन खिलूपुर संजरपुर में परम पूज्य महामानव बोधिसत्व बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की तस्वीर इंटर कॉलेज के छात्रों ने विद्यालय में लगवाने का काम किया जिसमें प्रबंधक अध्यापक उपस्थित थे principal विपिन यादव लालता प्रसाद आदित्य कुमार राव हरेंद्र यादव उपस्थित रहे। प्रिंसिपल ने बताया कि कि बाबा साहब केवल दलितों के ही नहीं पूरे भारत के मसीहा हैं अगर बाबा साहब नहीं होते हैं तो हमारा भारत देश आजाद नहीं होता और हम किसी पाखंड और अंधविश्वासी धर्म को नहीं मानते हैं हम इंसानियत ही हमारा धर्म है जो बाबा साहब ने कहा था उनके सिद्धांतों पर हम चलने का पूरा काम करेंगे और हरेंद्र यादव ने बताया कि अगर बाबासाहेब आंबेडकर नहीं होते तो आज हम इस मुकाम पर ना खड़े होते हैं ना हम को शिक्षा मिल पाती और ना ही हम समाज में चलने फिरने का काम करते हैं अगर आज इस कामयाबी के पीछे किसी का हाथ है तो बोधिसत्व बाबा साहब डॉक्टर बी आर अंबेडकर जी की वजह से और अगर बाबा साहब नहीं होते तो आज यह चाहे sc obc st समाज हो चाहे अगर बाबा साहब नहीं होते तो जो समाज पहले की प्रथा वाला काम कर रहा था चमार चमड़ा छिल रहा होता अहिर भैंस चरा रहा था और कोईरी भी सब्जी बेच रहा था चौरसिया पान बेच रहा था नोनिया मूंस मार के खा रहे होते जो जिसकी प्रथा थी वही करता आज अगर आजाद हैं उसी उसके पीछे उसी महान इंसान का हाथ है और अगर महिलाओं को सम्मान मिलता है तो संविधान से मिलता है चाहे वह किसी भी समाज की हो। और आदित्य राव ने बताया कि कि बाबा साहब अगर नहीं होते तो आज हम लोगों के जीवन में उजाला ना होता कब का यूं ही मर गए होते जुल्म सहते सहते अगर भीम जैसा रखवाला ना मिला होता और आदित्य राव ने कहा की यह जो कुछ भी आज हमें पानी पीने का अधिकार समाज में उठने बैठने का अधिकार अच्छा भोजन अच्छे कपड़े बराबरी का अधिकार मिल रहा है वह भी विश्वरत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की ही देन है और समस्त इंटर कॉलेज के बच्चों ने कहा कि बाबा साहब की देन है कि हम लोग शिक्षा ले रहे हैं मैं तो ना जाने कब का हम लोग मर गए होते जुल्म सहते सहते आज जो कुछ भी हैं बाबा साहब की बदौलत हैं शिक्षित होने के साथ-साथ हम समाज को संगठित करने की भी कोशिश कर रहे हैं और बाबा साहब के मिशन को हम नवयुवक छात्र-छात्राओं इस मिशन को आगे लेकर जाएंगे यह मिशन हम रुकने नहीं देंगे जब तक हमारे शरीर में प्राण हैं तब तक यह मिशन चलता रहेगा