निजामाबाद: थाना क्षेत्र के बनगांव गांव की बस्ती में सोमवार की रात 8:30 बजे आपसी विवाद में चली चार राउंड गोलियां

0
245

आज़मगढ़:निजामाबाद थाना क्षेत्र के बनगांव गांव की हरिजन बस्ती में सोमवार की रात 8:30 बजे के करीब रामलाल पुत्र राम आधार और उसके पाटीदार बृजराज पुत्र राम कुबेर के लड़कों से कुछ आपसी विवाद में चली चार राउंड गोलियां चलने की आवाज सुनकर लोग मौके की तरफ भागे लेकिन मौके पर पहुंचने पर केवल गोली के खोखे मिले गोली चलने की घटना से क्षेत्र के लोग काफी दहशत में हैं पुलिस मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों से कई लोगों को गिरफ्तार करके थाने चली गईएक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं |
जानकारी के मुताबिक रामलाल कोहार जात का है रामलाल की पिता गांव के ही हरिजन की लड़की से शादी किए थे शादी के बाद से यह आपने आपको कागज में चमार साबित कर चुका है और वर्तमान में यह गंभीरपुर थाने में पीआरडी जवान के पद पर ड्यूटी भी करता है गांव की ही बृजराज पुत्र कुबेर और अवधेश पुत्र शिवनाथ दोनों ने इसकी कागजी जांच करवाकर कोहार साबित कर कर दिया है इसी बात को लेकर पिछले कुछ दिनों से अक्सर झगड़ा होता रहता है आज अवधेश का लड़का विश्वजीत उर्फ़ टेढकू बनगांव नहर के पुलिया पर बैठकर किसी के साथ बातचीत कर रहा था शाम होने पर घर जा रहा था कि रामलाल का लड़का अंकित रास्ते में रोककर कहासुनी करके झगड़ा कर दिए झगड़ा करने के बाद जब दोनों लड़के घर पहुंचे तब दोनों परिवार के बीच झगड़ा हुई झगड़े के बीच में ही रामलाल ने घर में रखा कट्टा निकालकर चार राउंड फायरिंग किया जिससे गांव में दहशत व्याप्त हो गया लोग अपने घरों में दरवाजे बंद करके अंदर दुबक गए गोली चलने की आवाज सुनकर बाजार के लोग मौके की तरफ दौड़े और पुलिस चौकी इंचार्ज फरिहा विजय प्रकाश मौर्य को सूचना दी है गोली चलने की सूचना पर आनन-फानन में पुलिस मौके पर पहुंचकर कारतूस के खोखे बरामद की और दोनों पक्षों के कई लोगों को पूछताछ करने के लिए अपने साथ लेकर थाने चली गई पुलिस के सामने दोनों पक्ष के लोगों ने एक दूसरे पर प्रत्यारोप आरोप लगा रहे हैं कि हमने नहीं ऐ गोली चलाए हैं लोगों को कब्जे में लेकर पुलिस जांच कर रही है |
उधर रात में पुलिस आरोपी के घर दबिश देकर असलहा की बरामदगी करनी चाही लेकिन असलहा मिला नहीं रामलाल के विपक्षी अवधेश का लड़का बबलू घर पर ना होने के कारण पुलिस का शक उसी पर जा रहा था उधर परिवारवालों के मुताबिक बबलू घटना के समय से ही घर पर नहीं था वह अपने दोस्त के घर बर्थडे पार्टी में था रात में ही पुलिस बबलू को आरोपी मान चुकी थी जिसकी जानकारी होने पर गांव के लोगों ने महिलाओं और पुरुषों के साथ फरिहा बूथ पर पहुंचकर बूथ का घेराव किया चौकी इंचार्ज फरिहा विजय प्रकाश मौर्य के समझाने बुझाने के बाद किसी तरीके से मामला शांत हुआ और बबलू को पुलिस थाने ले जाकर बबलू और रामलाल दोनों के परिजनों के सामने बातचीत की लेकिन कोई रास्ता नहीं निकला पुलिस लीपापोती कर के मामले को दबाना चाहते थे सीओ सदर मोहम्मद अकमल खान की हस्तक्षेप पर दोनों पक्ष के लोगों पर मुकदमा दर्ज करने का आदेश हुआ